Nepal to sale himalayan glacier water - हिमालयन ग्लेशियर का पानी पिलाएगा नेपाल DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हिमालयन ग्लेशियर का पानी पिलाएगा नेपाल

हिमालयन ग्लेशियर का पानी पिलाएगा नेपाल

बोतलबंद पानी का सेवन करते हैं तो आप के लिए अच्छी खबर है। सस्ते दर पर नेपाल हिमालयन ग्लेशियर का पानी पिलाने को तैयार है। बर्फ से तैयार पानी की सीधे बॉटलिंग की योजना है। नेपाल के ‘खाने पानी विभाग ने इसके लिए पूरा मसौदा तैयार किया है। योजना को मूर्त रूप देने के लिए पहले चरण में कोरिया की चार कंपनियों से वार्ता भी शुरू हो गई है। सब सही रहा तो उत्तर प्रदेश, बिहार और बंगाल में भी पानी की बिक्री होगी। इसके लिए कंचनजंगा, एवरेस्ट, अन्नपूर्णा के ग्लेशियरों के पास ही बॉटलिंग प्लांट लगाने की तैयारी है।

पूरा हिमालय क्षेत्र जड़ी-बूटियों से भरा पड़ा है। ग्लेशियर से निकलने वाले पानी में भी भरपूर मिनिरल मिले हैं। पूरे परीक्षण के बाद नेपाल ने ग्लेशियर के पानी की बॉटलिंग की योजना तैयार की है। इससे उसकी आय भी बढ़ेगी। नेपाल बोतलबंद पानी उद्योग संघ के अध्यक्ष सुभाष भंडारी ने बताया कोरिया की चार कंपनियां पानी की बॉटलिंग के लिए तैयार हैं। नेपाल सरकार निर्यात नीति लागू कर दे तो सिर्फ उत्तर प्रदेश, बिहार और बंगाल में ही हम रोजाना 25 लाख लीटर पानी की बिक्री कर लेंगे। सरकार से इस मसले पर वार्ता चल रही है। जल्द ही पूरी दुनिया में हिमालय का पानी पहुंचेगा।

नेपाल के खाने पानी विभाग ने इस विषय पर अध्ययन भी किया है। इसके तहत निर्यात योग्य पानी उत्पादन करने के लिए ग्लेशियर को चिह्नित कर लिया गया है। इसके लिए बेबी वाटर संस्था ने हिम नदी और ग्लेशियर से निकलने वाली नदियों के मुहाने का भी अध्ययन किया है। खाने पानी विभाग के महानिदेशक सुनील दास ने बताया कि सरकार हिमालयन ग्लेशियर के पानी बेचने के लिए तैयार है। जल्द ही कंचनजंगा, एवरेस्ट, अन्नपूर्णा जैसे हिम पर्वतों मैं बॉटलिंग प्लांट भी लगाया जा सकता है। इसके लिए नेपाल के उद्योग, वित्त और आपूर्ति मंत्रालय मिलकर नीतिगत मसौदा तैयार कर रहे हैं।

----------------

यूरोप के साथ ही खाड़ी देशों पर भी नजर

बौद्ध धार्मावलंबी देशों का बुद्ध की जन्मस्थली के कारण नेपाल से विशेष जुड़ाव है। खाड़ी व यूरोपीय देश सहित भारत का भी हिमालय से लगाव है। ऐसे में ग्लेशियर के मिनिरल वाटर की मांग रहेगी।

-------------------------------

बॉटलिंग के लिए उत्साहित है दक्षिण कोरिया

सुभाष भंडारी ने बताया कि कोरिया की छह कंपनियों ने जुलाई के पहले सप्ताह में आयोजित बिजनेस टू बिजनेस (बीटीयूबी) बैठक में नेपाल में 'ग्लेशियर' पानी के उत्पादन और निर्यात के बारे में जानकारी ली। दक्षिण कोरिया की कंपनियां नेपाल के हिमालयी क्षेत्र से पानी के आयात की संभावना को लेकर उत्सुक हैं। कोरिया पहुंचे नेपाल चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री से वहां की कंपनियों ने पानी के कारोबार को लेकर बात भी की। अब बस स्पष्ट मसौदे की बारी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Nepal to sale himalayan glacier water