DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  महाराजगंज  ›  झमाझम बरसात, दो दिनों में 95 एमएम बारिश हुई
महाराजगंज

झमाझम बरसात, दो दिनों में 95 एमएम बारिश हुई

हिन्दुस्तान टीम,महाराजगंजPublished By: Newswrap
Thu, 17 Jun 2021 05:31 AM
झमाझम बरसात, दो दिनों में 95 एमएम बारिश हुई

महराजगंज। निज संवाददाता

लगातार तीसरे दिन बुधवार को भी झमाझम बारिश होने से लोगों की परेशानी काफी बढ़ गई। बुधवार को पूरे दिन बारिश होने से शहर से लेकर गांवों तक जगह-जगह घुटने भर तक पानी लग गया। ऐसे में मानसूनी बारिश को देखकर लोगों के चेहरे से रौनक गायब हो गई। बारिश नहीं टूटने से अधिकतर लोग घरों के रहने के लिए मजबूर हो गए। लगातार बारिश होने से मंगलवार का तापमान 26 डिग्री सेल्सियस रहा। वहीं दो दिनों में 95 एमएम बारिश होने का रिकार्ड दर्ज हुआ है। मंगलवार की सुबह आठ बजे से लेकर बुधवार को सुबह आठ बजे तक 20 एमएम बारिश हुई है।

लगातार तीसरे दिन की मानसूनी बारिश से धान की खेती करने वाले किसानों केचेहरे से रौनक गायब हो गई है। किसानों के खेतों में पर्याप्त पानी लग गया है। ऐसे में किसानों ने धान की रोपाई रोक दी है। वहीं मेंथा की खेती करने वाले किसान सबसे अधिकार परेशान हैं। खेतों में मेंथा की फसल बारिश के पानी से सड़ने लगी है। किसान बारिश के वजह से मेंथा की फसल को मशीन तक नहीं पहुंचा पा रहे हैं। वहीं लगातार मानसूनी बारिश होने से महराजगंज-फरेंदा रोड स्थित जिला अस्पताल के मुख्य गेट के सामने पानी लग गया है। इसके अलावा शहर के ऑफिसर कालोनी में जलभराव की स्थिति उत्पन्न होने पर लोगों को पम्पसेंट से पानी निकालना पड़ रहा है। नगर के लोहियानगर, शास्त्रीनगर, रोडवेज परिसर, आबकारी विभाग, गन्ना विभाग, कोतवाली परिसर में भी पर्याप्त पानी लग गया है। नगर में जगह-जगह पानी लगने से नगरवासियों की परेशानी शुरु हो गई है। बुधवार को नगरपालिका अध्यक्ष कृष्ण गोपाल जायसवाल ने पूरे नगर का भ्रमण करके पानी की निकासी के लिए नपा कर्मचारियों को आवश्यक निर्देश दिए। कोतवाली में जमा पानी को निकलवाया।

घुघली क्षेत्र के किसानों की बढ़ी परेशानी

कई दिनों से लगातार मूसलाधार बारिश होने से घुघली क्षेत्र के किसानों की परेशानी भी काफी बढ़ गई है। क्षेत्र के भरवलिया, अहिरौली, अमोढ़ा, पोखरभिंडा, पटकहौली, मठिया, चैनपुर, पौहरिया, रामपुर बलडीहा, घघरुआ खंडेसर, बसन्तपुर, पुरैना खण्डी चौरा आदि गावों के सिवान में लगे पानी की निकासी ड्रेनों से होता है। लेकिन ड्रेनों के बंधे को हटाए नहीं जाने से खेतों में पर्याप्त पानी लग गया है। ऐसे में अधिकतर किसानों धान की रोपाई को रोक दिया है। घुघली ब्लाक पूर्व प्रमुख मोहन सिंह, डॉ. अनिल त्रिपाठी, पूर्व प्रधान धीरेन्द्र सिंह, पूर्व प्रधान वकील उपाध्याय, टिंकल मिश्रा, रविन्द्र सिंह, पूर्व प्रधान छेदी प्रसाद आदि ने बताया कि सिंचाई विभाग द्वारा ड्रेनों पर लगाए गए बंधे को नहीं हटवाया गया तो किसान जन आंदोलन करने के लिए मजबूर हो जाएंगे।

संबंधित खबरें