Going anytime of district hospital electricity - जिला अस्पताल की कभी भी गुल हो सकती है बिजली DA Image
23 नवंबर, 2019|12:50|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जिला अस्पताल की कभी भी गुल हो सकती है बिजली

जिला अस्पताल की कभी भी गुल हो सकती है बिजली

सड़क चौड़ीकरण कार्य में साबधानी हटी तो जिला अस्पताल की बिजली कई दिन के लिए गुल हो जाएगी। अंडर ग्राउंड केबल कटने का डर अस्पताल प्रशासन को सताने लगा है। उन्होंने बिजली जेई, एसडीओ व एक्सईएन को सड़क चौड़ीकरण कार्य का जिम्मा लेने वाली कार्यदायी संस्था को केबल बचाने के लिए रिमांडर दिया है।

100 बेड वाले जिला अस्पताल को 24 घंटे बिजली आपूर्ति के लिए स्वतंत्र फीडर लगा है। बैकुंठपुर से गोरखपुर रोड से फरेंदा रोड होते हुए जिला अस्पताल तक 33 हजार केबीए का अंडर ग्राउंड केबल बिछाया गया है। इधर नगर के फरेंदा रोड का फोर लेन करने का कार्य तेजी से चल रहा है। कार्यदायी संस्था सड़क के दोनों तरफ खुदाई कर रही है। ऐसे में यदि अंडर ग्राउंड हाईटेंशन केबल कट गया तो जिला अस्पताल की बिजली कई दिनों के लिए ठप हो जाएगी। इससे मरीजों और तीमारदारों दुश्वारियां बढ़ने के साथ ही जांच प्रक्रिया प्रभावित हो जाएगी।

हर रोज पहुंच रहे 12 सौ मरीज:जिला अस्पताल में हर रोज करीब 12 सौ मरीज स्वास्थ्य लाभ के लिए पहुंच रहे है। गंभीर बीमारी के चलते इसमें से 100 से 150 मरीज भर्ती हो रहे है। ऐसे में यदि अस्पताल की बिजली गुल हो गई तो अस्पताल प्रशासन को मरीजों और तीमारदारों को उमस भरी गर्मी से राहत देना मुश्किल हो जाएगा। डिजिटल एक्स-रे व पैथालोजी जांच प्रभावित हो जाएगी।

अंडर ग्राउंड केबल बचाने के लिए बिजली विभाग के अधिकारियों को अवगत कराया गया है। अस्पताल में जनरेटर की भी व्यवस्था है, लेकिन बिजली गुल होने पर अस्पताल की आर्थिक बोझ बढ़ जाएगा। जनरेटर जलने से बचाने के लिए हर चार घंटे पर बंद करना पड़ता है। इससे विशेषकर भर्ती मरीजों की परेशानी बढ जाएगी।

डॉ. आरबी राम सीएमएस

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Going anytime of district hospital electricity