DA Image
1 अगस्त, 2020|4:45|IST

अगली स्टोरी

कार्यों में लापरवाही पर चार बीडीओ को हिदायत

कार्यों में लापरवाही पर चार बीडीओ को हिदायत

डीएम डॉ. उज्ज्वल कुमार ने कलक्ट्रेट सभागार में विकास कार्यों व लाभार्थीपरक योजनाओं की समीक्षा की। इसमें लापरवाही मिलने पर चार खंड विकास अधिकारियों को प्रगति बढ़ाने की हिदायत दी। कहा कि दायित्वों में लापरवाही पर किसी को बख्शा नहीं जाएगा। सभी अधिकारी अपने विभागीय कार्यों में लापरवाही न बरतें। डीएम ने स्वच्छ भारत मिशन के तहत सामुदायिक शौचालय निर्माण की ब्लाकवार समीक्षा की। लक्ष्य व उसके निर्माण की प्रगति के बारे में पूछताछ की। पाया कि लक्ष्मीपुर, मिठौरा, निचलौल व पनियरा ब्लाक में शौचालयों के निर्माण की प्रगति बेहद सुस्त है। इसकी मानीटरिंग व पर्यवेक्षण में खंड विकास अधिकारियों द्वारा रुचि नहीं ली जा रही है। इस पर चारों खंड विकास अधिकारियों को कड़ी हिदायत देते हुए शीघ्र निर्माण पूरा कराने का निर्देश दिया। कहा कि वह सभी आंगनबाड़ी केंद्रों की जांच करें और वहां आने वाली समस्याओं व गड़बड़ी को दूर करें। अन्यथा कार्रवाई के लिए तैयार रहें। संचारी रोग/दस्तक अभियान की समीक्षा में सभी प्रभारी चिकित्साधिकरियों, खंड विकास अधिकारियों, सीएमओ, डीपीओ व डीपीआरओ को निर्देश दिया कि आपस में समन्वय बनाकर कार्य करें। गांवों में झाड़ियों का कटान, नाली, सड़क की सफाई रोस्टर बनाकर कराएं। एंटी लार्वा दवा का छिड़काव कराएं। नियमित रूप से फागिंग जरूर करें। चेतावनी देते हुए कहा कि निरीक्षण के दौरान ये काम नहीं होने पर संबंधित अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। मनरेगा की समीक्षा में शत-प्रतिशत प्रवासी कामगारों का काम दिलाने का निर्देश बीडीओ व डीसी मनरेगा को दिया। कहा कि 20 जून से 31 अक्तूबर तक 125 मानव दिवस मनाया जाना है। इसमें 4431545 कार्य का लक्ष्य रखा गया है। इसके सापेक्ष अब तक 12949 प्रवासी कार्य कर रहे हैं। उन्होंने काम चाहने वाले हर व्यक्ति को काम दिलाने का निर्देश दिया। उन्होंने बीडीओ को निर्देश दिया कि वह महिला स्वयं सेवी संस्थाओं के कार्यो की समीक्षा कर लें। कार्य ठीक नहीं होने पर उनको हटाकर अन्य को शामिल करें। बैठक में सीडीओ पवन अग्रवाल, डीडीओ जगदीश त्रिपाठी, डीपीआरओ केबी वर्मा, बीडीओ व एडीओ पंचायत मौजूद रहे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Four BDOs instructed for negligence in work