DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बंदर पकड़ने आगे नहीं आया वन विभाग, गुस्‍साए लोगों ने जाम की सड़क: VIDEO

महराजगंज में बंदर के आतंक से तीन दिनों से परेशान ग्रामीणों की सुनवाई वन विभाग के जिम्मेदारों ने नहीं की तो लोगों का गुस्सा बुधवार की सुबह फूट पड़ा। सदर कोतवाली के कांध गांव के नाराज लोगों ने रामनगर चौराहे पर फरेंदा-महराजगंज सड़क पर करीब तीन घंटे तक जाम लगाए रखा। दोनों तरफ से वाहनों की कतार लग गई थी। एसडीएम व सीओ ने लोगों को समझाने की काफी कोशिश की। लेकिन जब मौके पर पहुंचकर डीएफओ ने कार्रवाई का भरोसा दिया, तब जाकर लोगों ने जाम समाप्त किया।

कांध गांव में तीन दिनों से बंदर का आतंक है। लोगों के अनुसार अब तक इस बंदर ने 15 लोगों को काटकर जख्मी कर दिया है। दो दिनों से लोग इस बंदर को पकड़वाने के लिए वन विभाग के जिम्मेदारों से गुहार लगा रहे थे।  लेकिन आरोप है कि बंदर को पकड़वाने के लिए 10 हजार का खर्च बताकर उसे जमा कराने को कहा गया। इससे लोगों में आक्रोश पनप ही रहा था कि इस कटखने बंदर ने बुधवार की सुबह एक-एक करके गांव के तीन लोगों को काटकर जख्मी कर दिया।

इससे लोगों का गुस्सा फूट पड़ा और लामबंद लोग सड़क पर उतर गए। लोगों ने रामनगर चौराहे पर सुबह सात बजे ही जाम लगा दिया। सड़क पर बांस-बल्ली रखकर नारेबाजी करने लगे। कुछ ही देर में दोनों तरफ वाहनों की कतार लग गई। एसडीएम व सीओ ने जाम समाप्त कराने की कोशिश शुरू की। इसी बीच पूर्व ब्लाक प्रमुख राजेन्द्र चौधरी भी पहुंचकर लोगों को समझाना शुरू किया। डीएफओ ने आश्वस्त किया कि शीघ्र ही कटखने बंदर के आतंक से निजात दिला दी जाएगी। इसके बाद साढ़े दस बजे के करीब लोगों ने जाम समाप्त किया।

बंदर ने इन लोगों को बनाया है अपना शिकार
कांध गांव के 15 लोगों को बंदर ने काटकर घायल किया है। घायलों में शिवनाथ, विनोद, रामबरन, तीजू, नागेन्द्र, जनार्दन गुप्ता, सुखराम, रामलाल, अनिल सिंह, पौहारी सिंह, लाली, रोहित साहनी व शिवनाथ शामिल हैं। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:forest department not come to caught monkey people jam road in Mahrajganj