DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  महाराजगंज  ›  गंडक बैराज पर डिस्चार्ज चार लाख क्यूसेक पार, खतरा बढ़ा
महाराजगंज

गंडक बैराज पर डिस्चार्ज चार लाख क्यूसेक पार, खतरा बढ़ा

हिन्दुस्तान टीम,महाराजगंजPublished By: Newswrap
Thu, 17 Jun 2021 05:31 AM
गंडक बैराज पर डिस्चार्ज चार लाख क्यूसेक पार, खतरा बढ़ा

निचलौल (महराजगंज)। हिन्दुस्तान संवाद

नेपाल के पहाड़ों पर हो रही लगातार बारिश के कारण गंडक नदी का जलस्तर तेजी से बढ़ता जा रहा है। जलस्तर बढ़ने के कारण वाल्मीकिनगर बैराज पर बुधवार को 4.08 लाख क्यूसेक पानी का डिस्चार्ज हुआ। बैराज के सभी 36 फाटक मंगलवार को ही उठा दिए गए हैं। इसके चलते नेपाल स्थित गंडक नदी के किनारे के गॉवों के लोग बाढ़ को लेकर भयभीत हैं। नदी का जलस्तर बढ़ने से यूपी के महराजगंज व कुशीनगर के कुछ गॉवों में भी पानी घुसने का खतरा बना हुआ है। हालांकि सिंचाई विभाग के अधिकारी गंडक नदी के संवेदनशील बांधों पर नजर रखे हैं और अभी कहीं भी कटाव की बात सामने नहीं आई है।

पहाड़ों पर चार दिनों से हो रही लगातार बारिश के कारण वाल्मीकि नगर बैराज पर डिस्चार्ज तेजी से बढ़ रहा है। बुधवार की सुबह पांच बजे बैराज पर तीन लाख 50 हजार क्यूसेक डिस्चार्ज था, जो सुबह आठ बजे तीन लाख 78 हजार क्यूसेक, दस बजे चार लाख चार हजार क्यूसेक, पूर्वाह्न 11 बजे व दोपहर 12 बजे चार लाख आठ हजार क्यूसेक रहा है। अभी भी बैराज पर डिस्चार्ज बढ़ने का क्रम जारी है। गंडक नदी का जलस्तर बढ़ने से इसके ए गैप, बी गैप व नेपाल लिंक बांध के ठोकरों पर पानी का दबाव बढ़ता ही जा रहा है। लगातार हो रही बारिश से नदी के बढ़ते जलस्तर के कारण नेपाल के नदी सटे रतनगंज, महलवारी, सेमरी,सकरदीनही, बेलवानी, सूर्यपुरा, परसौनी, रानीनगर, नरसही, पकलियहवा व कुड़िया आदि गॉवों के लोग बाढ़ को लेकर भयभीत हैं। वहीं नदी का जलस्तर बढ़ने के कारण निचलौल ब्लॉक के सोहगीबरवां, गेडहवां, अर्जुनही, चंदा गुलरभार आदि गॉवों के लोग बाढ़ को लेकर डरे हुए हैं।

वाल्मीकि नगर बैराज पर नदी का डिस्चार्ज लगातार बढ़ रहा है। बैराज की जब डिजाइन हुई थी, तब इसकी क्षमता साढ़े आठ लाख क्यूसेक पानी के डिस्चार्ज की थी। जलस्तर बढ़ने से डाउन स्ट्रीम में बिहार की तरफ नुकसान है। नेपाल व यूपी के हिस्से में अभी तक गंडक नदी के जलस्तर बढ़ने से नुकसान नहीं है। जलस्तर अब कम होने की संभावना है।

विकास कुमार, एसडीओ वाल्मीकिनगर-बैराज

गंडक नदी का जलस्तर अभी बढ़ने का क्रम जारी है। नदी के बांधों पर अभी किसी प्रकार की क्षति नहीं है। सिंचाई विभाग द्वारा स्थिति पर लगातार नजर रखा जा रही है। बाढ़ बचाव का कार्य जारी है।

अनिल कुमार सिंह, एई सिंचाई खण्ड द्वितीय-महराजगंज

संबंधित खबरें