DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  महाराजगंज  ›  ऑक्सीजन लेवल दुरूस्त रखने के लिए पीपल के पेड़ के नीचे बनाया आशियाना
महाराजगंज

ऑक्सीजन लेवल दुरूस्त रखने के लिए पीपल के पेड़ के नीचे बनाया आशियाना

हिन्दुस्तान टीम,महाराजगंजPublished By: Newswrap
Tue, 25 May 2021 10:01 PM
ऑक्सीजन लेवल दुरूस्त रखने के लिए पीपल के पेड़ के नीचे बनाया आशियाना

पकड़ी (महराजगंज)। विनोद गुप्ता

कोरोना आपदा के बीच तरह-तरह की मुश्किलें पेश आ रही हैं। अपने को कोरोना से बचाने के लिए लोग तरह-तरह की कोशिशें कर रहे हैं। कोई पूजा-पाठ तो कोई योग-व्यायाम को दिनचर्या में शामिल कर चुका है। इसी बीच महराजगंज के पिपरदेउरा निवासी मनीष कुमार गुप्ता कोरोना से ठीक होने के बाद अपना ऑक्सीजन लेवल दुरूस्त रखने के लिए घर से बाहर पीपल के पेड़ के नीचे अपना आशियाना बना लिये हैं। इनका कहना है कि घर के अंदर घुटन होती है। सांस लेने में तकलीफ होती है, जबकि एक सप्ताह से वे पीपल के पेड़ के नीचे सकून महसूस कर रहे हैं।

मनीष बीते तीन मई को कोरोना संक्रमित हो गए थे। गोरखपुर के एक निजी हास्पिटल में इलाज के बाद 18 मई को संक्रमण मुक्त तो हो गए, लेकिन सांस लेने में दिक्कत व खांसी की शिकायत अभी दूर नहीं हो रही थी। डॉक्टर ने हास्पिटल से डिस्चार्ज किया और 19 मई को मनीष घर पहुंचे। लेकिन घर के अंदर उन्हें घुटन महसूस होने ली। कुछ लोगों की सलाह पर उन्होंने बांसपार जाने वाली सड़क पर अपने घर के सामने स्थित पीपल के पेड़ के नीचे अपना ठौर बना लिया। बकौल मनीष दो से तीन दिन में ही उन्हें अच्छा महसूस होने लगा। सांस लेने में पहले जैसी परेशानी नहीं हुई तो घर के लोगों ने पेड़ के नीचे ही उनके जरूरत की हर व्यवस्था कर दी।

पीपल के पेड़ का बहुत महत्व है

हिन्दू धर्म में पीपल के पेड़ का बहुत महत्व है। इसे न केवल धर्म संसार से जोड़ा गया है, बल्कि वनस्पति विज्ञान और आयुर्वेद के अनुसार भी पीपल का पेड़ कई तरह से फायदेमंद माना गया है। आयुर्वेदाचार्य डॉ. प्रियंका सिंह कहती हैं कि सांस संबंधी किसी भी प्रकार की समस्या में पीपल का पेड़ आपके लिए बहुत फायदेमंद होता है। इसके लिए पीपल के पेड़ की छाल का अंदरूनी हिस्सा निकालकर सुखाकर चूर्ण के रूप में प्रयोग करन से सांस संबंधी दिक्कतों में बहुत लाभ पहुंचता है। होम्योपैथ चिकित्सक व योगाचार्य डॉ. देव कुशवाहा कहते हैं कि पीपल के पत्तों का प्रयोग कब्ज या गैस की समस्या में दवा का काम करता है। पीपल के पेड़ से हर समय ऑक्सीजन मिलता है।

संबंधित खबरें