DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सीतापुर में पुलिस हिरासत में युवक की मौत

रामपुर कला थानाक्षेत्र के सुनारन कोड़री दहइया गांव के युवक की संदिग्ध स्थितियों में मौत हो गई। परिवार के लोगों का कहना है कि दंपत्ति के बीच झगड़ा हुआ था। इसी के बाद पुलिस उसे घर से थाने उठाकर ले गई। थाने में उसकी पिटाई हुई जिससे युवक की हालत बिगड़ गई। इलाज के लिए ग्रामीण को नजदीक सरैया स्वास्थ्य केन्द्र ले जाया गया, पर वह बच नहीं सका।

पीड़ित पक्ष का कहना है कि जब घर से गोविन्द को ले जाया गया था तो वह पूरी तरह से स्वस्थ था। अचानक हुई मौत को लेकर गंभीर आरोप रामपुर कला थाना पुलिस पर लगाए गए हैं। एएसपी महेन्द्र प्रताप चौहान के मुताबिक झगड़े के बाद पुलिस गोविन्द को थाने लाई थी। उन्होंने पुलिस का बचाव करते हुए कहा कि गोविन्द पहले से बीमार रहा होगा। इसी कारण उसकी मौत हुई है। फिर भी शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है।

मेडिकल रिपोर्ट आने के बाद स्थितियां स्पष्ट हो जाएंगी। उसी आधार पर कार्रवाई भी होगी। उधर थाना प्रभारी रामपुर कला रणविजय सिंह का कहना है कि मंगलवार दोपहर डेढ़ बजे पुलिस को सूचना मिली थी कि दंपत्ति झगड़ा कर रहे हैं। इसी के बाद डायल 100 गोविंद को उठाकर थाने लाई थी। थाने में दंपत्ति के बीच सुलह-समझौता हुआ। बाद में लिखित सहमति के आधार पर इलाके का बीडीसी गोविन्द को लेकर चला गया। रास्ते में उसकी हालत बिगड़ी जिससे उसे सरैया स्वास्थ्य केन्द्र में भर्ती कराया गया लेकिन वह बच नहीं सका।

एसओ के मुताबिक पुलिस ने गोविन्द के साथ कोई मारपीट नहीं की है। उधर परिजनों ने खुलकर आरोप रामपुर कला थाना पुलिस पर लगाए हैं। कहा गया है कि गोविन्द को थाने ले जाकर बुरी तरह से पीटा गया। इसी के चलते उसकी हालत बिगड़ गई। देर शाम जब मरणासन्न स्थिति हो गई तो थाने की पुलिस युवक को गांव के करीब छोड़कर रफूचक्कर हो गई। बाद में गोविन्द ने दम तोड़ दिया। फिलहाल शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजकर पुलिस कागजी कार्रवाई में जुट गई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Youth killed in police custody in Sitapur Police station