Worried: 1 lakh 50 thousands people die every year in road accidents in UP - चिंताजनक : यूपी में सड़क हादसे में हर वर्ष डेढ़ लाख लोगों की मौत DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चिंताजनक : यूपी में सड़क हादसे में हर वर्ष डेढ़ लाख लोगों की मौत 

शहर में सबसे ज्यादा सड़क हादसे किन-किन क्षेत्रों में हुए हंै इसका खुलासा 108 एम्बुलेंस सेवा के आंकड़ों से हुआ है। पहली जनवरी से 31 मई 2019 के बीच सड़क हादसों में 376 गंभीर रूप से घायलों को ट्रामा सेंटर पहुंचाया गया। जहां घायलों का ब्योरा दर्ज किया गया और सड़क दुर्घटना के स्थल चिह्नित किए गए। 

यूपी में हर वर्ष डेढ़ लाख लोगों की मृत्यु सड़क हादसे में हो रही है। इससे कहीं ज्यादा लोग गंभीर रूप से घायल हो रहे हैं। सड़क हादसे के इस आकड़े को कम करने के मकसद से सरकार की ओर से रोड सेफ्टी जागरूकता कार्यक्रम मनाने का निर्णय लिया गया है। छह दिवसीय यह कार्यक्रम लखनऊ सहित प्रदेश भर में 17 से 22 जून तक मनाया जाएगा। 

शासन की ओर से गुरुवार को इस संबंध में एक पत्र परिवहन विभाग, डीएम, एसएसपी को भेजा गया है। जहां अपने अपने जनपद में सड़क जारूकता कार्यक्रम आयोजित करेंगे। जिसमें जिले के प्रभारी मंत्री, सांसद, विधायक मुख्य अतिथि होंगे। सड़क सुरक्षा से जुड़े विभागों के मुखिया अपने विचार रखेंगे। 

एनसीसी, ब्वायज स्कउट्स, लायन क्लब, रोटरी क्लब की सहभागिता से जागरूकता अभियान चलेगा।  यातायात नियम के पालन हेतु साइकिल रैली, बाइकोत्थान, पैदल फुटमार्च एवं सड़क दुघर्टना में मृत व्यक्तियों की स्मृति में कैंडिल मार्च, नक्कड़ नाटक आयोजित होंगे। 

ये अपराध करने वाले बख्शे नहीं जाएंगे

बिना सीटबेल्ट, हेल्मेट, ओवर स्पीडिंग, रेड लाइट जंपिंग, वाहन चलाते समय मोबाइल फोन एवं इयर फोन का प्रयोग, नशे की हालत में गाड़ी चलाने वाले, ओवर लोडिंग करने वाले यात्री वाहन, ओवर लोडिंग करने वाले माल वाहन। साथ ही जिन वाहनों में स्पीड गवर्नर, साइड मिरर, इंडीकेटर, व्यावसायिक वाहनों में रेट्रो-रिफलेक्टिव टेप, व्यवसायिक वाहनों में फिटनेस परमिट, प्रदूषण प्रमाण पत्र नहीं होने पर कार्रवाई होगी। 

प्रदेश के 108 के बेड़े में 1488 एम्बुलेंस के अलावा 102 के बेड़े में 2270 व 250 एएलएस संचालित हो रही है। जिसमें सबसे ज्यादा रोड एक्सीडेंट में घायलों व ग्रामीण क्षेत्रों की मरीजों को नजदीकी हस्पिटल तक पहुंचा जा रहा है। 
धंनजय कुमार, स्टेट हेड, जीवीकेएमआरआई


नौ क्षेत्रों में सबसे ज्यादा दुर्घटनाएं

लखनऊ। राजधानी से सटे नौ ऐसे क्षेत्र हैं जहां सबसे ज्यादा सड़क हादसे के मामले सामने आए है। 
घायलों की संख्या         
मलिहाबाद से माल रोड      71
कल्ली से मोहनलालगंज रोड 53
बुद्धेश्वर रेलवे ओवर ब्रिज     44
सुलतानपुर रोड                  34
भिटौली सेवा शॉप                29
सीतापुर रोड रेलवे क्रासिंग     29
चारबाग मवैया पुल              26
चिनहट बीबीडी                    49
स्कूटर इंडिया चौराहा              32  

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Worried: 1 lakh 50 thousands people die every year in road accidents in UP