DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वजीर-ए-आला की सरजमीं को है सुविधाओं की दरकार

1 / 2

2 / 2

PreviousNext

अवध सूबे के वजीर-ए-आला नवाब आसिफुद्दौला के वजीर अमजद अली शाह द्वारा बसाया गया कस्बा ख्यातिलब्ध है,जो गोंडा-फैजाबाद हाईवे पर स्थित है। ये कस्बा बीते कई सालों से लोगों की सुविधाओं से दो-चार रहा है। वजीरगंज ब्लाक का मुख्यालय व  ब्लाक के सभी प्रमुख कस्बे डुमरियाडीह, चंदापुर, बालेश्वरगंज, तुर्काडीहा व हाईवे को जोड़ने वाली वजीरगंज की आबादी दस हजार से अधिक होने के बावजूद ग्राम पंचायत के दर्जे से उबर नहीं सका है। जन प्रतिनिधियों की उपेक्षा से त्रस्त क्षेत्र के बुद्धिजीवियों ने कस्बे के विकास के लिए शासन प्रशासन से आवाज उठाई है।
कस्बे की समस्याओं से चिंतित जै हिंद परिषद के अध्यक्ष पवन सिंह कहते हैं कि तीन सौ से अधिक दुकान प्रतिष्ठान और  दो किमी में फैले वजीरगंज में अतिक्रमण की भारी समस्या है। सभी मार्गों पर सड़क के दोनों पटरियों पर अतिक्रमण से आवागमन में दिक्कत होती है। इलाहाबाद बैंक चौराहे पर डग्गामार वाहनों के जमावड़े को दूर करने के लिए कस्बे में टैक्सी स्टैंड, यात्रियों के लिए रैन बसेरा बनाया जाना जरूरी है।
व्यापार मण्डल के अध्यक्ष हरीश भारती कस्बे में पेयजल की समस्या पर चिंतित होकर कहते हैं कि बाजार में बनी पानी की टंकी तो है लेकिन आपूर्ति न के बराबर है, वहीं  वर्षों पहले लगे इण्डिया मार्क हैण्डपम्प खराब पड़े हैं जिससे गांव से आने वाले ग्राहकों को प्यास बुझाने के लिए शुद्ध पेयजल नहीं मिल पाता है। कस्बे में गंदे पानी की निकासी के लिए सड़क के किनारे नालियों को सामने के दुकानदारों ने पाट रखा है। प्रतिदिन सफाई व कूड़ा निस्तारण की सुविधा बढ़ाई जानी जरूरी है।
क्षेत्र पंचायत सदस्य शुभम गुप्ता बिजली की बदहाली पर सवाल उठाते हुए कहा कि वजीरगंज में बिजली की अबाध आपूर्ति जरूरी है। कस्बे में चौराहे सहित सभी खम्भों पर सोडियम लाइट भी लगना चाहिए जिससे कस्बे की रौनक बढ़ सके। सब्जी व्यापारी मेराज अहमद कस्बे का दर्जा बढ़ाए जाने की वकालत करते हुए बताते हैं कि कस्बे को ग्राम पंचायत स्तर से नगर पंचायत का दर्जा मिलना चाहिए। बजट की कमी से  कस्बे का समुचित विकास नहीं हो पा रहा है।
अधिवक्ता जटाशंकर सिंह कस्बे में स्थित बारादरी की सुन्दरीकरण की आवश्यकता पर बल देते हुए कहा कि यहां युवाओं की रुझान रचनात्मक कार्यों में बढ़ाने के लिए खेल मैदान व पार्क की स्थापना और बारादरी की सौन्दर्यीकरण जरूरी है। कस्बे में सड़कों के किनारे  छायादार सजावटी पौध लगाने से भी इसे नया लुक दिया जा सकता है।
कस्बा वजीरगंज की ग्राम पंचायत वजीरगंज की समस्या व उसके समाधान पर प्रधान राजकुमारी आत्म विश्वास से लबरेज स्वर में कहती हैं कि ग्राम पंचायत का बजट सीमित होने के बावजूद वह कस्बे की साफ सफाई पेयजल व पौधरोपण के लिए तत्पर हैं। कस्बे को साफ सुथरा बनाने के लिए व्यापारी बन्धुओं व बुद्धिजीवियों से सहयोग के साथ जन प्रतिनिधियों से सहयोग की अपेक्षा है। सीमित संसाधनों के बावजूद वह नागरिकों की समस्याओं को लेकर तत्पर हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Wazir-e-Ala land has the need of facilities