DA Image
25 फरवरी, 2020|2:59|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अब वेस्ट प्लास्टिक का प्रयोग सभी जिलों में सड़क निर्माण में होगा

default image

लोक निर्माण विभाग अब प्रदेश के सभी जिलों में एक बार प्रयोग के बाद खराब हो जाने वाले प्लास्टिक का प्रयोग सड़क निर्माण में करेगा। अभी तक नौ जिलों आगरा, बरेली, झांसी, कानपुर, मेरठ, गोरखपुर, प्रयागराज और वाराणसी जिले में ही ऐसे प्लास्टिक का प्रयोग सड़क निर्माण में विभाग कर रहा था।

उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के निर्देश पर विभाग ने अब सभी जिलों में सिंगल यूज वेस्ट प्लास्टिक का उपयोग सड़क बनाने में करने की तैयारी की है।

सड़कों के नवीनीकरण का काम और तेज करने के निर्देश

प्रदेश में नई सड़कें बनाने के साथ ही पुरानी सड़कों के नवीनीकरण का कार्य भी इस समय युद्ध स्तर पर किया जा रहा है। इस वर्ष 2019-20 में करीब 22100 किमी. से अधिक लम्बाई में 2787 करोड़ की लागत से सड़कों के विशेष मरम्मत और नवीनीकरण कार्य स्वीकृत किया गया है। जिसमें से 18 हजार किमी. लंबाई में मरम्मत और नवीनीकरण का कार्य पूरा किया जा चुका है।

सड़क निर्माण के दौरान पर्यावरण संरक्षण पर दें ध्यान

उप मुख्यमंत्री ने स्पष्ट निर्देश दिए हैं कि सड़कों के निर्माण और मरम्मत कार्यों में पर्यावरण संरक्षण व संवर्धन पर खास ध्यान दिया जाए। सड़क निर्माण के लिए पेड़ काटना जरूरी है तो पेड़ को दूसरे स्थान पर शिफ्ट करने की व्यवस्था करने को कहा है। ऐसा नहीं हो पाने की स्थिति में नये पौधे लगाने की व्यवस्था सुनिश्चित करने को कहा है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Waste plastic will be used in road construction in all districts