DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लखनऊ से फरार 49 इनामी अपराधी पुलिस के लिये बने चुनौती

default image

चार बदमाशों पर 25 हजार रुपये का इनाम, दो पर 20 हजार और चार अपराधियों पर 15 हजार रुपये इनाम, दो आतंकियों पर भी इनामटिंकू कपाला पर एक लाख रुपये का इनाम जल्दी ही घोषित हुआलखनऊ। प्रमुख संवाददाताएक दर्जन से लूट-हत्या में वांछित टिंकू कपाला पर एक लाख रुपये का इनाम है। एक हजार रुपये से लेकर 25 हजार रुपये के 48 और बदमाश लखनऊ पुलिस की ‘वान्टेड सूची में है। इनमें कोर्ट से फरार दो आतंकी भी शामिल है। हत्या, लूट, धोखाधड़ी में वांछित इन अपराधियों पर वर्ष 2001 से लेकर वर्ष 2018 के बीच आईजी, डीआईजी और एसएसपी ने इनाम घोषित किया है। ये अपराधी लखनऊ पुलिस के लिये अभी तक चुनौती बने हुए हैं। इसके अलावा कई जघन्य वारदातों जिनमें बदमाशों की पहचान नहीं हो सकी है। उनका सुराग देने वालों को तो 50 हजार रुपये का इनाम घोषित किया जा चुका है। 50 हजार का इनामी एक लाख का बनाकिसी भी बड़ी वारदात में शामिल अपराधी जब लम्बे समय तक पकड़ में नहीं आता है तो उस पर इनाम घोषित किया जाता है। अपराधी बड़ा होता है तो तीन दिन में ही इनाम राशि बढ़कर 50 हजार से एक लाख रुपये तक पहुंच जाती है। कुछ समय पहले कृष्णानगर स्थित आरके ज्वैलर्स में दो लोगों की हत्या कर लूटपाट करने की घटना का खुलासा पुलिस ने किया था। तब सामने आया था कि इसमें टिंकू कपाला गिरोह का हाथ था। टिंकू पर तब 50 हजार रुपये इनाम था जो तीन दिन में ही बढ़ाकर एक लाख रुपये कर दिया गया था। सीतापुर व हरियाणा के बदमाशों पर 25 हजार रुपये इनामहत्या, लूट व अन्य अपराधों में शामिल चार बदमाशों पर 25 हजार रुपये इनाम घोषित किया गया है। इनमें सीतापुर के सदना निवासी आसिफ उर्फ गुड्डन, हरियाणा के पानीपत निवासी धर्मराज सैनी, राकेश उर्फ कालू और लखनऊ के बाजारखाला निवासी राजेन्द्र गुप्ता शामिल है। आसिफ पर 19 जनवरी, 2010 में आईजी ने इनाम घोषित किया था। जबकि बाकी तीनों अपराधियों पर एसएसपी ने पिछले साल आठ जून को घोषित किया था। इन पर 25 हजार रुपये से कम इनामगोण्डा के रहने वाले मुन्नू पर वर्ष 2008 में तत्कालीन डीआईजी ने पांच हजार रुपये इनाम घोषित किया था। इसी तरह सीतापुर के सतीश मिश्र पर 10 हजार रुपये का इनाम लख्नऊ पुलिस ने रखा है। लाखों रुपये की ठगी कर फरार हुए गोण्डा के एसएम श्रीवास्तव पर 15 हजार रुपये आईजी लखनऊ जोन ने घोषित किया था। इस तरह करीब 44 अपराधी हैं जिन पर इनाम है और ये अब तक पुलिस पकड़ से दूर हैं। सबसे कम इनाम 1000 रुपयेठाकुरगंज में आपराधिक वारदात करने के आरोपी रिजवान पर एक हजार रुपये इनाम 23 मार्च 2008 को एसएसपी ने घोषित किया था। कोर्ट से फरार आतंकियों पर 20 हजार रुपये इनामवर्ष 2007 में कोर्ट में पेशी के दौरान फरार हुए आतंकियों पाकिस्तान निवासी सलमान खान उर्फ नासिर उर्फ अबू मुसाहिद और मो. सईद उर्फ मजहर पर आईजी कानून व्यवस्था ने 29 जून, 2007 को 20-20 हजार रुपये इनाम रखा था। इन आतंकियों को पकड़ने के लिये 12 टीमें लगायी गई थी लेकिन एसटीएफ, एटीएस और पुलिस इनको पकड़ ही नहीं सकी। एसएसपी कलानिधि नैथानी का कहना है कि लखनऊ के इनामिया बदमाशों की तलाश के लिये क्राइम ब्रांच को भी लगाया गया है। हालांकि, बीच में कुछ इनामी अपराधी पकड़े भी गए हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:wanted