DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मतदाता पुनरीक्षण कार्यक्रम : कई पोलिंग बूथ मिले बंद, ग्रामीण फार्म लेकर बीएलओ को ढूंढते रहे

1 / 2

2 / 2

PreviousNext

प्रचार प्रसार के अभाव में रविवार को पोलिंग बूथों परआयोजित मतदाता पुनरीक्षण कार्यक्रम का समुचित लाभ लोगों को नहीं मिल सका। जानकारी के अभाव में लोग बूथों तक नहीं पहुंचे। बूथ पर तैनत बीएलओ लोगों के आने का इंतजार करते रहे। कुछ स्थानों पर कर्मचारियों के न पहुंचने की भी खबर मिली है।
रविवार को मतदाता सूची पुनरीक्षण का काम जिले के 1864 पोलिंग बूथों पर होना था। विशेष दिवस पर 18 वर्ष पूरा करने वाले युवा फार्म-6 भरकर मतदाता बन सकते हैं। इसी तरह मतदाता सूची से नाम कटवाने के लिए फार्म-7 भरकर जमा करना था। नाम अथवा अन्य प्रकार का संशोधन कराने के लिए पोलिंग बूथों पर फार्म-8 भरकर बूथ लेवल अधिकारी के पास जमा करना था। बूथ लेवल पर आयोजित इस कार्यक्रम का प्रचार प्रसार ठीक से नहीं कराया गया। रविवार को हिन्दुस्तान टीम ने पोलिंग बूथों पर आयोजित विशेष मतदाता पुनरीक्षण कार्यक्रम का जायजा लिया तो सच्चाई सामने आई। नगर स्थित एमपीपी इंटर कालेज पोलिंग स्टेशन पर सन्नाटा पसरा था। मौजूद बीएलओ रोहितदेव, अशोक शुक्ल, धनीराम, ज्वाला प्रसाद, सोनी, गुडि़या, सुमन, नीलम, विजय कुमार, अलीमुननिशा, सावंत कुमार, यशवंत, रीता देवी आदि लोगों के आने का इंतजार कर रहे थे। यहां पर कुल 42 फार्म जमा हुए थे। एमएलके कालेज पोलिंग स्टेशन पर 12 फार्म जमा किए गए। डीएवी इंटर कालेज पोलिंग बूथ पर सन्नाटा था। पूनम सिंह, रंजू गुप्ता, रामदेव पांडेय आदि खाली बैठे थे। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Voter Revision Program: Many polling booths get closed looking for BLO with rural form