DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वोटर बनने से वंचित 5000 लोगों की हुई पहचान, अब बनेंगे वोटर

वोटर बनो अभियान व विशेष अभियान के बावजूद शहरी क्षेत्र के करीब 5000 लोग ऐसे मिले हैं जो वोटर बनने की प्रक्रिया में शामिल ही नहीं हुए। इनमें 18 वर्ष पार कर चुके युवा मतदाताओं के अलावा बहुत से व्यस्क मतदाता भी शामिल हैं। इनमें से कई मतदाता तो ऐसे मिले जिन्हें अकेला छोड़कर उनके परिवार के अन्य सभी का नाम वोटर लिस्ट में मिला। अब इन सभी को फार्म नम्बर छह भरवाकर मतदाता बनाया जाएगा। इसके लिए जिलाधिकारी ने संबंधित बीआरसी को निर्देश दिए हैं।

लोकसभा चुनाव तैयारियों को लेकर शुक्रवार को आयोजित बैठक में यह तथ्य सामने आया है। इसके साथ ही जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने दिव्यांगजनो वोटरों की समीक्षा की। रिपोर्ट के अनुसार नगर निगम में 2834 दिव्यांगजनों की पहचान हो चुकी है। जिलाधिकारी ने इन सभी का एक अलग रजिस्टर बना के रखने के निर्देश दिए।

चुनाव पाठशाला में पढ़ाया जाएगा वीवी पैट का पाठ

ज़िला निर्वचन अधिकारी ने बताया गया कि 19 मार्च को मतदान केन्द्र वार लगने वाली चुनावी पाठशाला में ईवीएम और वीवी पैट का प्रदर्शन व पाठ पढ़ाने के साथ ही वोट का महत्व समझाया जाएगा।

अपार्टमेंट में नहीं बंटी पीली पर्ची

अपार्टमेंट और सोसायटी में पीली पर्ची का वितरण नहीं किया जा रहा है। जिसके लिए निर्देश दिया गया अपार्टमेंट और जितनी भी सोसायटी है सभी में शनिवार को पीली पर्चियों का वितरण कराया जाए। जिलाधिकारी ने कहा कि अगर बूथ वार पीली पर्ची का वितरण शत प्रतिशत नहीं हुआ तो संबंधित एईआरओ की ज़िम्मेदारी तय होगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:voter