DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ग्रामीणों ने पूर्व माध्यमिक विद्यालय में बंद कर दिए आवारा पशु

सीतापुर जिले में आवारा जानवरों को पकड़ने का अभियान कायदे से नहीं चल रहा है। जिम्मेदार रोजाना एक-दो जानवर पकड़ कर सिर्फ खाना पूर्ति कर रहे हैं। उधर आवारा जानवर किसानों की फसल चट कर रहे हैं। इससे किसानों में आक्रोश है। सोमवार को मिश्रिख विकास खण्ड के निरहन गांव के किसानों ने विद्यालय में आवारा जानवर बंद करके आक्रोश का इजहार किया।

आवारा जानवारों से परेशान किसान सुबह गांव के बाहर एकत्र हुए। उन्होंने टोलियां बनाकर खेतों में चर रहे जानवरों को पकड़कर गांव के विद्यालय में बंद करना शुरू कर दिया। कुछ ही देर में विद्यालय परिसर जानवरों से भर गया। ऐसे में स्कूल पहुंचे शिक्षकों व बच्चों को बाहर ही खड़ा रहना पड़ा। स्कूल के शिक्षक प्रमोद कुमार गुप्त ने सूचना जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को दी। इसके बाद तहसीलदार पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे। ग्रामीणों ने प्रशासन विरोधी नारे लगाए। ग्रामीणों ने कहा कि आवारा जानवर फसलों को चट किए जा रहे हैं। ऐसे में उनके बच्चे क्या खाकर जिंदा रहेंगे। पढ़ाई तो दूर की बात। 
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Villagers animals locked in pre-secondary school