DA Image
2 दिसंबर, 2020|2:15|IST

अगली स्टोरी

सचिवालय कर्मियों के सम्मान के लिए शासन ने एडवाइजरी जारी की

प्रदेश सरकार ने यूपी सचिवालय के अधिकारियों और कर्मचारियों के साथ सम्मानजनक व्यवहार किए जाने और उनसे संबंधित मामलों को समयबद्ध तरीके से निपटाने के लिए मंडल और जिले के आला अफसरों के लिए एडवाइजरी जारी की है।

अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी ने गुरुवार को इस संबंध में प्रदेश के सभी कमिश्नर, डीएम, एसएसपी और एसपी को निर्देश भेजे हैं। उन्होंने इन अधिकारियों से कहा है कि यूपी सचिवालय प्रदेश की एक शीर्ष शासकीय संस्था है। सचिवालय के अधिकारी और कर्मचारी यूपी शासन के महत्वपूर्ण अंग हैं। शासकीय व्यस्तता के कारण उनके पास अपने मामलों की पैरवी के लिए पर्याप्त समय का अभाव रहता है। साथ ही अपेक्षित सम्मान व सहयोग प्राप्त न होने के कारण इसका प्रतिकूल प्रभाव उनके शासकीय कामों पर पड़ता है। इसलिए सचिवालय के अधिकारियों और कर्मचारियों के साथ सम्मानजनक व्यवहार किया जाए। उनके संबंधित मामलों को व्यक्तिगत रुचि लेते हुए संवेदनशीलता एवं उदारतापूर्वक उनका समयबद्ध निपटारा कराना सुनिश्चित करें। अपने अधीनस्थों को इस संबंध में निर्देश देकर इसकी अनुपालन रिपोर्ट भी यथाशीघ्र उपलब्ध कराएं। यूपी सचिवालय संघ के अध्यक्ष यादवेंद्र मिश्र ने इस प्रकार के निर्देशों के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी का आभार जताया है। उन्होंने कहा कि पिछले दिनों सचिवालय के समीक्षा अधिकारी मनोज प्रजापति के साथ कैसरबाग पुलिस द्वारा किए गए दुर्व्यवहार के बाद संघ की मांग पर सरकार ने यह फैसला किया है। श्री मिश्र ने कहा कि सचिवालय के इतिहास में यह पहली घटना है, जिसके बाद सरकार को एडवाइजरी जारी करनी पड़ी है।