DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हथकरघा निदेशालय में मर्ज होगा यूपी हैंडलूम

हथकरघा एवं वस्त्रोद्योग मंत्री सत्यदेव पचौरी ने यूपी हैंडलूम को हथकरघा निदेशालय में समाहित करने के लिए प्रस्ताव उपलब्ध कराने के लिए विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिया है। मर्जर के इस फैसले से यूपी हैंडलूम के कर्मियों की वेतनमान तथा अन्य कठिनाइयों का समाधान जल्द हो जाएगा।

श्री पचौरी ने कहा है कि प्रदेश में हथकरघा विकास कार्यक्रमों को गति देने के लिए राज्य सरकार गंभीर है। उन्होंने शुक्रवार को विधान भवन स्थित अपने कार्यालय कक्ष में हथकरघा एवं वस्त्रोद्योग विभाग के कार्यों की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि सरकार का प्रयास है कि हैंडलूम उद्योग को नया जीवन मिले। यूपी हैंडलूम को घाटे से उबारने के लिए भी प्रभावी कदम उठाये जा रहे हैं।

मंत्री ने हैंडलूम की ब्रिकी को बढ़ाने के लिए अधिकारियों से समन्वय स्थापित कर काम करने को कहा। हैंडलूम को वन डिस्ट्रिक-वन प्रोडक्ट (ओडीओपी) से जोड़ने के लिए कार्ययोजना तैयार करने को कहा। यूपी हैंडलूम के सभी शो-रूम में पीपीपी के आधार पर ओडीओपी का एक काउंटर स्थापित करने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि हैंडलूम के पास करीब 700 करोड़ रुपये की संपत्ति है, फिर भी निगम के अधिकांश शो-रूम घाटे में हैं। लंबे समय से घाटे में चल रहे 25 शो-रूम बंद करने की कार्यवाही की जानकारी ली।

श्री पचौरी ने अधिकारियों को निर्देश दिया कि हथकरघा उत्पादों के बिक्री के लक्ष्य को दोगुना करें। हैंडलूम की बिक्री बढ़ाने के लिए नान टेक्सटाइल आइटम को जोड़ने पर बल दिया। राज्य हथकरघा निगम के प्रबंध निदेशक सुखलाल भारती ने निगम द्वारा संचालित योजनाओं एवं कार्यक्रमों की विस्तार से जानकारी दी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:UP handloom will merge Handloom Directorate