DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

यूपी : गोंडा में बाढ़ का कहर लेकर दाखिल हुई घाघरा, कई गांव घिरे, पलायन शुरू 

यूपी : गोंडा में बाढ़ का कहर लेकर दाखिल हुई घाघरा, कई गांव घिरे, पलायन शुरू 

घाघरा नदी का जलस्तर निरंतर बढ़ने व लगातार बरसात से अब बांध की तलहटी व निचले इलाकों में बसे गांवों में अफरा-तफरी मच चुकी है। लगातार एक सप्ताह से खतरे के निशान से ऊपर आ चुकी घाघरा नदी रविवार की सुबह भी खतरे के निशान से 30 सेंटीमीटर ऊपर बह रही है। जिससे यहां बाढ़ का खतरा मंडराने लगा है। लगातार घटते बढ़ते जलस्तर के साथ ही कटान तेज हो गयी है। अस्थाई बांध सहित घाघरा का पानी एल्गिन चरसड़ी बांध पर करारा टक्कर दे रहा है। तो वहीं नैपुरा, परसावल सहित चरपुरवा के कई मजरों में पानी लोगों के घरों में जा चुका है। जिससे कई परिवार बांध को अपना आशियाना बना चुके है। अभी तक राहत और बचाव के उपाय नाकाम साबित हो रहे हैं।
जानकारी के अनुसार तराई के साथ नेपाल के पहाड़ों पर हो रही बारिश से नदी के जलस्तर में उतार-चढ़ाव का दौर जारी है। नदी का जलस्तर बीते दिनों से निरंतर बढ़ रहा है। केंद्रीय जल आयोग संस्थान घाघराघाट के कर्मियों के अनुसार नदी का जल स्तर शनिवार की शाम तक बढ़ते क्रम में रहा। लेकिन रात के बाद इसमें थोड़ी स्थिरता दिखाई पड़ी। रविवार की सुबह घाघरा का जल स्तर खतरे के निशान 106.07 के सापेक्ष 106.376 रहा। जो कि खतरे के निशान से करीब 30 सेंटीमीटर ऊपर है। तो वहीं नदी में पानी का डिस्चार्ज 2 लाख 34 हजार 678 क्यूसेक मापा गया।

नैपुरा, परसावल सहित चरपुरवा में घुसा बाढ़ का पानी, कटान हुई तेज :

 शनिवार की रात घाघरा के बढ़ते जल स्तर से बाराबंकी जिले के परसावल, नैपुरा व चरपुरवा गांवो में बाढ़ का पानी लोगों के घरों में घुस गया। जिससे इन गांवों के करीब पांच दर्जन परिवारों को बांध पर शरण लेनी पड़ी। तो वहीं परसावल ग्राम पंचायत के पासिन पुरवा व कहांरन पुरवा के करीब 200 परिवार नदी के टापू में फंस चुके है। चारों तरफ पानी भर जाने के चलते अब इनका संपर्क कट चुका है। जिससे अब नाव ही इनके आवागमन का माध्यम है। जिलापंचायत सदस्य राम कैलास यादव बताते है कि अधिकारियों से बात की जा रही है। नावों व राहत के लिए प्रशासन ने आश्वासन दिया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:UP: Gora floods the floods surrounded by several villages starts migrating