DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

यूपी : अंबेडकरनगर में स्कूल में बच्चे को बंद कर शिक्षक चले गए घर

अंबेडकरनगर जिले के प्राथमिक विद्यालय अवसानपुर में शिक्षकों की लापरवाही से एक छात्र की जान खतरे में पड़ गई। स्कूल के प्रधानाध्यापक और शिक्षक एक छात्र को कक्ष में ताला बंद करके ही चले गए। परिजन जब उसकी तलाश करते हुए विद्यालय पहुंचे तो वहां पर छात्र को रोते हुए पाया। वह बेहद डरा हुआ था। मामले में बीएसए ने प्रधानाध्यापक को निलंबित कर दिया है। वहीं शिक्षकों और शिक्षामित्र का वेतन रोका है।
प्राथमिक विद्यालय अवसानपुर में कक्षा चार का छात्र दीपचन्द्र पुत्र रामरूप सोमवार को स्कूल गया था। इसी दौरान वह विद्यालय के एक कक्ष में ही सो गया। उसका बड़ा भाई भी उसके साथ पढ़ने गया था। दीपचन्द्र के मिलने पर किसी अध्यापिका ने कहा कि यह उसका बैग है। तुम इसे लेकर चले जाओ। इस पर उसका भाई उसका बैग लेकर चला गया। वहीं स्कूल में छुट्टी होने पर न तो उसे किसी ने जगाया और न ही उसकी आंख खुली। जब बालक दीप चन्द्र की आख खुली तो कमरे में अकेले पाकर वह रोने लगा और खिड़की खोलकर राहगीरों को बुलाने लगा। जब कुछ राहगीर विद्यालय के अन्दर से किसी के रोने की आवाज सुनकर एसडीएम टाण्डा कोमल यादव को सूचित किया। 
एसडीएम टाण्डा के निर्देश पर इब्राहिमपुर थाने के प्रभारी थानाध्यक्ष मनोज कुमार सिंह दलबल के साथ तत्काल विद्यालय पहुंचे और स्वयं ही कमरे का ताला तोड़कर बच्चे को सकुशल बाहर निकला। और उसके डर को कम करते हुए उसे पानी आदि पिलाया। बताया जा रहा है कि बच्चे के घर पर न पहुंचने पर घबराए परिजन उसे ढूंढने लगे। सभी लोग ढूंढते हुए विद्यालय पहुंचे। वहां पहुंचने पर बच्चे के रोने की आवाज सुनाई दी। बच्चा काफी डरा हुआ है। मामले में लापरवाही पर बीएसए अतुल सिंह ने बताया कि प्रधानाध्यापक लाल बहादुर वर्मा को लापरवाही बरतने पर निलंबित कर दिया गया है। जब कि शिक्षिक मिथिलेश यादव, शिक्षा मित्र सुमित्रा यादव, बिन्दू यादव व एकावली पांडेय का वेतन रोक दिया गया है।

  

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:UP: closed the child at the school and the teacher went home in Ambedkar Nagar