DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

यूपी बोर्ड में हर विषय का एक ही पेपर होगा, 15 दिन में खत्म होंगे एग्जाम

UP board 12th result 2018

अगले वर्ष से यूपी बोर्ड में हर विषय के दो पेपर होने की बजाय एक ही पेपर की परीक्षा होगी। परीक्षाओं को भी 15 दिन में समेटा जाएगा। इसे वर्ष 2018-19 के शैक्षिक सत्र में लागू कर दिया गया है। 

माध्यमिक शिक्षा परिषद की सचिव नीना श्रीवास्तव के मुताबिक, इस सत्र से एनसीईआरटी का पाठ्यक्रम लागू हो रहा है। सीबीएसई में एनसीईआरटी का पाठ्यक्रम लागू है और वहां हाईस्कूल व इंटर में हर विषय के एक-एक प्रश्नपत्र की परीक्षा होती है।

एक ही पेपर होने से एक तरफ जहां विद्यार्थियों पर दबाव कम होगा वहीं मूल्यांकन व परीक्षा परिणाम तैयार करने में भी कम समय लगेगा। वहीं उत्तर पुस्तिकाएं और प्रश्नपत्र भी कम छपवाने पड़ेंगे। दो की जगह एक पेपर करने की सारी कवायद पूरी कर ली गई है। अब इसमें नौंवी और 11वीं के प्रश्न नहीं पूछे जाएंगे। अभी तक कक्षा 9-10 के सवाल हाईस्कूल में और 11-12वीं के पाठ्यक्रम के सवाल इंटरमीडिएट में पूछे जाते थे।   

वहीं अगले वर्ष भी बोर्ड परीक्षाएं फरवरी में करवाई जाएंगी।  प्रयोगात्मक परीक्षाएं दिसंबर 2018 में शुरू होंगी। इसके लिए छात्र-छात्राओं के पंजीकरण के लिए वेबसाइट खोल दी गई है। परीक्षा के फॉर्म अगस्त में भरवाए जाएंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:UP Board 2018: one subject one paper