अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

यूपी : गांव-कस्बों में बिजली चोरी पर सख्ती, अधिक बिल देने वाले गांवों को बेहतर सुविधाएं 

अब शहरों के अलावा गांव-कस्बो में भी बिजली चोरी पर सख्ती की जाएगी। गांव-कस्बों में बिजली चोरी रोकने के लिए प्रधान, सरपंच और स्कूली शिक्षकों आदि की मदद दी जाएगी। वहीं जिन गांव क्षेत्रों में अधिक बिल वसूली होगी वहां अधिक बिजली के साथ अन्य सुविधाएं भी मुहैया कराई जाएंगी। यूपी पॉवर कारपोरेशन ने शहरों के बाद अब गांवों में बिजली चोरी रोकने की योजना पर काम शुरू किया है।
यूपीपीसीएल के चेयरमैन आलोक कुमार का कहना है कि गांव-कस्बों में उपभोक्ताओं की संख्या बढ़ रही है। वाणिज्यिक उपभोक्ताओं की संख्या में भी बढ़ोतरी हुई है। इन क्षेत्रों में सभी कनेक्शन मीटर के साथ दिए गए हैं लेकिन कुछ पुराने कनेक्शन अब भी बिना मीटर के चल रहे हैं। इनको भी मीटर से जोड़ने की कवायद चल रही है। साथ ही बिजली चोरी रोकने, ओवरलोडिंग रोकने पर भी अभियान चलाया जा रहा है। गांवों पहले सर्वे किया जाएगा। सर्वे के आधार पर  चोरी वाले क्षेत्रों-घरों या प्रतिष्ठानों की जांच कराई जाएगी। 

गांव-कस्बों में 50 लाख नए उपभोक्ता बढ़ गए तो बढ़ा नुकसान भी
अब तक अभियान शहरों में अधिक फोकस रहते थे लेकिन अब गांवों पर भी विशेष ध्यान दिया जाएगा। पहले कनेक्शन कम थे और आपूर्ति भी बहुत कम होती थी इसलिए नुकसान भी कम होता था। अब गांवों में अधिक लोगों के पास कनेक्शन हैं साथ ही 18 घंटे तक बिजली आपूर्ति होने से उपयोग भी बढ़ गया है। इसलिए हानियां बढ़ रही हैं। गांव-कस्बों में पिछले एक वर्ष में 40 फीसदी से अधिक बिजली आपूर्ति हुई है और 50 लाख नए उपभोक्ता बढ़ गए हैं।

बैंक, पोस्टआफिस और राशन की दुकानों पर बिलिंग
जिन राशन की दुकानों पर पीओएस मशीनें हैं उन पर डेबिट कार्ड के जरिए बिजली बिल भुगतान की सुविधा ग्रामीण क्षेत्रों में दी जा रही है। वहीं बैंकों और पोस्ट आफिस को भी इससे जोड़ा जा रहा है। ताकि ग्रामीणों को बहुत अधिक दूर न जाना पड़े। इससे बिल देने वालों की संख्या में बढ़ोत्तरी होगी।


 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:UP: Better facilities in villages giving more bills to the electricity bills