class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सड़कों को नई तकनीक से बनाने पर आज से दो दिन तक होगा मंथन डा.अम्बेडकर विश्वविद्यालय में आयोजित होने वाली कार्यशाला का

प्रमुख संवाददाता / राज्य मुख्यालय। प्रदेश में सड़कें बनाने में नई तकनीक के प्रयोग को लेकर दो दिन तक मंथन होगा। शुक्रवार और शनिवार को आयोजित कार्यशाला के मुख्य अतिथि केन्द्रीय सड़क परिवहन व राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी होंगे और अध्यक्षता मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ करेंगे। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार व प्रदेश के उपमुख्यमंत्री व लोकनिर्माण विभाग के मंत्री केशव प्रसाद मौर्य शनिवार को इस कार्यशाला का समापन करेंगे। कार्यशाला में कुछ प्रदेश के मुख्यमंत्री, राज्यों के लोक निर्माण मंत्री व उनके अफसर तथा आईआईटी व अन्य संस्थानों के सड़क निर्माण विशेषज्ञ भाग लेंगे। इसमें इण्डियन रोड कांग्रेस के महासचिव समेत नीदरलैंड, जर्मनी व इंग्लैण्ड के तकनीकी विशेषज्ञ भी आ रहे हैं। प्रदेश के उपमुख्यमंत्री व लोक निर्माण मंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने गुरुवार को संवाददाताओं को बताया कि इस तरह की कार्यशाला प्रदेश में ही नहीं बल्कि देश में पहली बार हो रही है। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार सड़कों की गुणवत्ता, उनकी भार सहने की क्षमता और लागत कम करने पर गहनता से विचार कर रही है। इन तीन बिन्दुओं को लेकर कार्यशाला में केन्द्रीय सड़क परिवहन मंत्री, मुख्यमंत्रियों, विभिन्न राज्यों के लोकनिर्माण मंत्री व सड़क तकनीक विशेषज्ञ कार्यशाला में दो दिन तक अपने अनुभव साझा करेंगे। नवीनतम तकनीक से बनी प्रदेश की ये 15 सड़केंश्री मौर्य ने बताया कि तकनीक विशेषज्ञों को भाजपा सरकार के आठ महीने के कार्यकाल में बनी 15 नवीनतम तकनीक की सड़कों पर भी ले जाया जाएगा। इनमें पांच करोड़ की लागत से बनने वाली सड़क उन्नाव की दोस्ती नगर बाईपास, 277 करोड़ का हरदोई में पलिया-लखनऊ मार्ग, 342 करोड़ का सीतापुर में बिलरायां-पनवारी मार्ग, 170 करोड़ का लखनऊ- हरदोई मार्ग, 202 करोड़ का लखनऊ-पलिया मार्ग, उन्नाव में 19 करोड़ का सण्डीला-रसूलाबाद-चकरवंशी मार्ग, 102 करोड़ का उन्नाव-शुक्लागंज मार्ग, 31 करोड़ का लखनऊ में बिजनौर-सिसेंडी-मौरावां मार्ग, 4 करोड़ का लखनऊ-कुर्सी-महमूदाबाद मार्ग, 33 करोड़ का लखनऊ-वाराणसी (तेलीबाग) मार्ग, लखनऊ में 21 करोड़ का पिकप तिराहे से शहीद पथ तक, 16 करोड़ में गोला-अलीगंज मार्ग, 16 करोड़ में कानपुर देहात में सिकन्दरा-झींझक-रसूलाबाद मार्ग तथा 136 करोड़ का जौनपुर में लुम्बिनी-दुद्धी मार्ग शामिल हैं।अब हर सड़क दो लेन से कम नहीं होगीअब प्रदेश की हर सड़क दो लेन से कम नहीं होगी। गांवों में भी अब सिंगिल लेन की दो लेन की सड़कें बनेंगी। अब हर सड़क के निर्माण और उसके पूरा होने की तिथि का विवरण वेबसाइट पर डाला जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Two days Workshop on Roads safty
कामकाज-- वेतन कटौती से नाराज बिजलीकर्मियों ने किया प्रदर्शनकामकाज-- विद्युत पेंशनर्स ने की 7वां वेतनमान की मांग