DA Image
11 जुलाई, 2020|12:23|IST

अगली स्टोरी

पुन: आंधी-बारिश से गिरे पेड़, पार्क की चहारदीवारी ढही

default image

लखनऊ। प्रमुख संवाददाताआंधी-पानी से शहर के अलग-अलग स्थानों पर तीन पेड़ धराशायी हो गए। गोतीनगर में पार्क की चहारदीवारी भी ढह गई। कई पेड़ों की टहनियां टूटकर सड़क पर गिर गईं। आवागमन ठप हो गया। हालांकि कोई हादसा नहीं हुआ है। नगर निगम के उद्यान विभाग की टीम ने देर रात तक सभी पेड़ों को काटकर रास्तों को खोल दिया है।सोमवार शाम अचानक तेज हवा के साथ बारिश शुरू हो गई। इससे मोतीमहल लान के निकट चिरैया झील के पास नीम का भारी भरकम पेड़ सड़क पर गिर गया। तिराहे पर गिरे पेड़ से तीनों रास्ते बंद हो गया। लॉक डाउन के कारण यातायात बहुत कम है। जो भी वाहन उस रास्ते से आ रहे थे उनको अपना रास्ता बदलना पड़ा। बारिश बंद होते ही नगर निगम की टीम उसे हटाने के लिए मौके पर पहुंच गई। देर रात तक रास्ता खोल दिया गया। उधर विश्वासखण्ड गोमतीनगर के पार्क में स्थित नीम का पेड़ भी गिर गया। पार्क की चहारदीवारी तोड़ते हुए पेड़ पर गिरा। इससे पार्क के दूसरी ओर स्थित भवन की चहारदीवारी भी क्षतिग्रस्त हो गई। दूसरी ओर आलमबाग के बड़ा बरहा में भी सेमल का पेड़ गिर गया है। नगर निगम की टीम ने पेड़ की टहनियों को अलग करके रास्ता खाली करा दिया है। इसके अलावा वृंदावन, कानपुर रोड, जानकीपुरम आदि क्षेत्रों में पेड़ों की टहनियां टूटकर सड़क पर गिर गईं। इससे भी कुछ देर के लिए रास्ते अवरुद्ध हो गया।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Trees fell from storm-rains again the boundary of the park collapsed