DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

प्रशिक्षण के गायब कर्मचारियों तीन दिन में चार्जशीट और विभागीय कार्रवाई

मतदान कर्मियों के प्रशिक्षण के दौरान गायब रहे कर्मचारियों पर एफआईआर के बाद अब तीन दिनों के भीतर जांच कराकर चार्जशीट दाखिल की जाएगी। यही नहीं इन कर्मचारियों पर विभागीय कार्रवाई भी की जाएगी। प्रशासन ने कर्मचारियों को फार्म 12 के वितरण में लापरवाही बरतने वाले सात विभागों के विभागाध्यक्षों को दो दिन में फार्म जमा करने को कहा है।

मतदान कर्मियों की ट्रेनिंग को लेकर प्रशासन इस बार बहुत सख्त है। पीठासीन अधिकारी और मतदान अधिकारी प्रथम की ट्रेनिंग से गायब रहे कर्मचारियों पर प्रशासन रिपोर्ट दर्ज कराने के बाद अब तीन दिनों में जांच कर चार्जशीट दाखिल कराएगा। जिलाधिकारी व जिला निर्वाचन अधिकारी कौशलराज शर्मा ने बताया कि इसके बाद इनको कोर्ट में पेश किया जा सकेगा। ट्रेनिंग से नदारद रहे कर्मचारियों को विभागीय कार्रवाई का भी सामना करना पड़ेगा।

नए कर्मचारियों को आज चुनावी ड्यूटी पर रहना है हाजिर

मेडिकल आधार पर जिनकी ड्यूटी कटी है, उनके स्थान पर नए कर्मचारियों को गुरुवार सुबह आदेश वितरित किया जाएगा। गुरुवार को दूसरी शिफ्ट से इन कर्मचारियों को केकेसी में मौजूद रहना होगा। ऐसे कर्मचारी तुरन्त अपने विभाग से अवमुक्त होकर अपनी चुनावी ड्यूटी को दूसरी पाली के प्रशिक्षण में जॉइन करना होगा।

विभागों ने फार्म 12 बांटने में की लापरवाही

चुनावी ड्यूटी में तैनात किए गए कर्मचारियों के लिए 19 हजार फार्म 12 दिए गए थे। लेकिन लापरवाही का आलम यह रहा कि केवल तीन हजार फार्म ही बांटे गए। बुधवार को समीक्षा के दौरान पाया गया कि आवास विकास, पीडब्लूडी,नगर निगम, एलडीए, बेसिक शिक्षा,बैंक, एलआईसी जैसे सात विभाग ने फार्म बांटने में घोर लापरवाही की। जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने कहा कि अब 19 अप्रैल तक इन विभागों ने फार्म-12 भर कर नहीं जमा किए तो विभागाध्यक्षों पर एफआईआर दर्ज करा दी जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:training