DA Image
10 अप्रैल, 2021|3:13|IST

अगली स्टोरी

ऐशबाग सीतापुर रेलखंड पर 120 की रफ्तार में दौड़ी ट्रेन

ढाई साल पहले शुरू हुआ था पटरियों को छोटी लाइन से बड़ी लाइन में बदलने का कामरेल संरक्षा की निगरानी में पहली बार डीलीगंज से सीतापुर के बीच ट्रेन का ट्रायल हुआलखनऊ। कार्यालय संवाददातापूर्वोत्तर रेलवे के ऐशबाग से सीतापुर रेलखंड बनकर तैयार हो गया है। इस रूट पर ट्रेनों का संचालन जल्द शुरू करने की तैयारी है। रविवार को रेल संरक्षा आयुक्त की निगरानी में ट्रेन की रफ्तार का ट्रायल किया गया। ट्रेन को डालीगंज से सीतापुर के बीच 120 किलोमीटर प्रति घंटे की स्पीड से दौड़ाया गया। जहां पटरियों की मजबूती को देखते हुए ट्रायल सफल माना जा रहा है। ऐसे में ढाई वर्ष के बाद इस रेलखंड पर अब एक बार फिर से ट्रेनों का संचालन जल्द शुरू होने की उम्मीद है। इस रेलखंड पर दो दिवसीय सीआरएम की टीम ने शनिवार व रविवार को निरीक्षण किया। पूर्वोत्तर रेलवे परिमंडल के सीआरएस अरविंद कुमार जैन ने रेलखंड के आमान परिवर्तन कार्य का मोटर ट्रॉली से निरीक्षण किया था। उन्होंने रेलखंड पर बने समपारों, प्वाइंटरों, क्रासिंगों, रेलवे लाइन फिटिंग्स, सिग्नल एवं रास्ते में पड़ने वाले स्टेशनों पर बने स्टेशन अधीक्षक कार्यालय, पैनल रूम एवं रिले रूम का निरीक्षण किया। इस बीच कमलापुर स्टेशन, कमलापुर-खैराबाद अवध के मध्य पुल संख्या 84, समपार संख्या 62 एवं खैराबाद अवध-सीतापुर के मध्य कर्व संख्या 28 एवं अन्य क्रॉसिंग्स, रेलवे लाइन फिटिंग्स, सिग्नल, समपार फाटक,अंडर पास का गहन निरीक्षण किया। ट्रायल सफल होने पर खुश नजर आए अफसर अधिकारियों ने बताया कि ढाई साल की मेहनत का परिणाम रहा कि ट्रेन का ट्रायल सफल रहा। इस रेलखंड पर अधिकतम 120 किमी की रफ्तार से ट्रेन का संचालन किया। अधिकारियों की मानें तो स्पीड ट्रायल पूरी तरह सफल रहा है। ऐसे में रेल संरक्षा अपनी ट्रायल रिपोर्ट पूर्वोत्तर रेलवे के डीआरएम को सौंपेंगे। सीआरएम के निरीक्षण में उप मुख्य इंजीनियर (निर्माण) सीएम चौधरी, वरिष्ठ मंडल इंजीनियर (समन्वय) आरके श्रीवास्तव, वरिष्ठ मंडल वाणिज्य प्रबंधक स्वदेश कुमार सिंह मौजूद रहे। ट्रेन से सीतापुर तक 30 रुपये किराया होगा इस रेलखंड पर ट्रेनों का संचालन शुरू होने से लखनऊ से सीतापुर के बीच 30 रुपये किराया होगा। इस रूट पर ट्रेन से रोजाना तकरीबन 25 हजार यात्रियों को ट्रेन की सुविधा मिलेगी। अभी तक यात्रियों को रोडवेज बसों से लखनऊ से सीतापुर पहुंचने के लिए करीब 90 रुपए का किराया देना पड़ता है। अधिकारियों ने बताया कि शुरुआती दौर में इस रेलखंड पर आधा दर्जन डेमू ट्रेनों का संचालन कराया जाएगा।