DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  लखनऊ  ›  निजी अस्पताल निर्माताओं से खरीदकर लगाएंगे वैक्सीन

लखनऊनिजी अस्पताल निर्माताओं से खरीदकर लगाएंगे वैक्सीन

हिन्दुस्तान टीम,लखनऊPublished By: Newswrap
Mon, 24 May 2021 10:00 PM
निजी अस्पताल निर्माताओं से खरीदकर लगाएंगे वैक्सीन

प्रशासन ने निजी अस्पतालों से कहा सीधे भारत बायोटेक, सीरम इंस्टीट्यूट से करें सम्पर्क

नोडल अधिकारी ने शहरी क्षेत्र में हो रहे वैक्सीनेशन कार्य की समीक्षा की

लखनऊ प्रमुख संवाददाता

वैक्सीन लगवाने के लिए लोगों का दबाव कम करने के लिए निजी अस्पतालों को भी छूट दी गई है। जो खरीद कर वैक्सीन लगवाना चाहते हैं, वे निजी अस्पताल में लगवा सकते हैं। इसके लिए जिला प्रभारी अधिकारी ने निर्देश दिया है कि निजी अस्पताल सीरम इंस्टीट्यूट, भारत बायोटेक समेत अन्य निर्माताओं से सीधे सम्पर्क करें। सोमवार को समीक्षा बैठक में जिला प्रभारी रौशन जैकब और कमिश्नर रंजन कुमार ने ये निर्देश निजी अस्पतालों को दिए हैं।

इसके लिए निजी अस्पतालों को शासन के दिशा निर्देशों का पालन करना होगा। जैसे वैक्सीन का बैच नम्बर, उसकी उपयोग की अंतिम तिथि, निर्माता से मिली वेल की मात्रा, क्रय मूल्य, लाभार्थी से टीकाकरण के लिए लिया जा रहा शुल्क, अस्पताल के नोडल अधिकारी का मोबाइल नम्बर आदि विवरण सीएमओ दफ्तर को उपलब्ध कराना होगा। इसके बाद नोडल अधिकारी ने शहरी क्षेत्र में हो रहे वैक्सीनेशन कार्य की समीक्षा की। सीएमओ ने बताया कि शहरी क्षेत्र में 60 वैक्सीनेशन केन्द्र शासकीय अस्पतालों में है। इसके अलावा सीएचसी, पीएचसी और सब सेंटर पर वैक्सीन लगाई जा रही है। नोडल अधिकारी रौशन जैकब ने निर्देश दिया कि वैक्सीन को खराब होने से बचाने के लिए वैक्सीनेटर और डेटा दर्ज करने वाले ऑपरेटरों को प्रशिक्षण दिलाया जाए।

लोगों को वैक्सीन के लिए जागरूक करेंगे

ग्रामीण क्षेत्रो में निगरानी समिति, आशा, आंगनबाड़ी कार्यकर्त्रियों, एएनएम, ग्राम प्रधानों के माध्यम से लोगों को वैक्सीन लगवाने के लिए जागरूक किया जाएगा। सोमवार की बैठक में इस संबंध में निर्देश जारी किए गए हैं। नोडल अधिकारी और कमिश्नर ने कहा है कि लोगों की वैक्सीन के प्रति भ्रान्तियों को दूर किया जाना चाहिए। इसके लिए ठोस योजना तैयार कर अमल करना होगा। साथ ही बीडीओ, एसडीएम को भी सक्रिय रहने के लिए कहा गया है। जिन लोगों के मन में कोई संशय है, उनको वैक्सीनेशन केन्द्रों पर लाया जाएगा। यह दिखाया जाएगा कि 18 वर्ष से लेकर वृद्धजन तक वैक्सीन लगवा रहे हैं। ग्रामीण इलाकों में वैक्सीन के लिए मुनादी की जाएगी।

संबंधित खबरें