अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बलरामपुर में तीन शिक्षक बर्खास्त

बलरामपुर में फर्जीवाड़े में तीन शिक्षक बर्खास्त

कार्रवाई

तीन अध्यापकों की फर्जी अभिलेख पर नौकरी करने पर सेवा समाप्त

एफआईआर कराने व सरकार धन के रिकवरी की प्रक्रिया शुरू

बलरामपुर। हिन्दुस्तान संवाद

जिले के तीन परिषदीय शिक्षकों की कूटरचित अभिलेखों से नौकरी करने पर सेवा समाप्त कर दी गई। बेसिक शिक्षा महकमे ने इनके विरुद्ध एफआईआर दर्ज कराकर प्रक्रिया शुरू कर दी है।

गुरुवार को बीएसए हरिहर प्रसाद ने जिले के तीन अध्यापकों को जालसाजी व कूटरचित अभिलेखों से नौकरी करने पर बर्खास्त कर दिया है। इनमें शिक्षा क्षेत्र गैसड़ी के प्राथमिक विद्यालय धौरहरा में वर्ष 2010 में सहायक अध्यापक पद पर अभिषेक कुमार की तैनाती हुई थी। 28 नवम्बर 2014 को पदोन्नति लेकर प्रधानाध्यापक हो गया। जिला महाराजगंज के शिक्षा क्षेत्र लक्ष्मीपुर के प्राथमिक विद्यालय बसंतपुर में कार्यरत प्रधानाध्यापक अभिषेक कुमार ने बलरामपुर में कार्यरत अभिषेक कुमार पर उनके पैन कार्ड व अभिलेख पर नौकरी करने की शिकायत की। जिसकी जांच कराने पर शिकायत सही मिली। बीएसए ने तत्काल सेवा समाप्त करते हुए एफआईआर दर्ज कराने के साथ रिकवरी प्रक्रिया शुरू कर दी है।

इसी तरह शिक्षा क्षेत्र गैसड़ी के प्रा.वि. सड़वा गुलरिहा में सहायक अध्यापक प्रवेन्द्र कुमार पुत्र राजनाथ सिंह का हाईस्कूल व इंटरमीडिएट का अंकपत्र सत्यापन में फर्जी मिला है। विभाग ने संबंधित शिक्षक को अपना पक्ष रखने का तीन बार अवसर दिया। अखबार में गजट कराया गया इसके बाद भी शिक्षक ने अपना पक्ष नहीं रखा। उस पर तत्काल बर्खास्त कर एफआईआर दर्ज कराने व रिकवरी प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। वहीं 16448 शिक्षक भर्ती प्रक्रिया में शिक्षा क्षेत्र शिवपुरा में प्रा.वि. रामनगर में अमित कुमार पुत्र राजाराम की नियुक्ति 29 अगस्त 2016 में सहायक अध्यापक पद पर तैनाती हुई थी। इंटरमीडिएट प्रमाण पत्र का सत्यापन में अनुत्तीर्ण मिलने की पुष्टि माध्यमिक शिक्षा परिषद ने दी है। इनको विभाग ने अपना पक्ष रखने का अवसर दिया। संतोषजनक जवाब न मिलने पर कूटरचित अभिलेख से नौकरी करने पर तत्काल सेवा समाप्त कर दी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Three teachers dismissed in Balrampur for fraud