DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लखनऊ से गाड़ी लूट कर बिहार में खपाने वाले तीन बदमाश गिरफ्तार

गाजीपुर के पॉलिटेक्निक चौरीहे से टैक्सी बुक करा कर ड्राइवर की हत्या करने तीन छात्रों को क्राइम ब्रांच की टीम ने गुरुवार को गिरफ्तार कर लिया। लखनऊ से लूटी गई गाड़ियों को बिहार के शराब तस्करों को बेचा जाता है। छात्रों के पास से लूटी गई दो कारें और असलहे  बरामद हुए हैं।
एसएसपी कलानिधि नैथानी ने बताया कि गाजीपुर निवासी कमल मिश्र, मिथिलेश पाण्डेय और बलिया निवासी देशराज सिंह को गिरफ्तार किया गया है। वहीं, गिरोह में शामिल बलिया निवासी मनोज यादव, मेनू यादव और महाराष्ट्र निवासी शरद सिंह पाटिल की तलाश की जा रही है।

एसएसपी के मुताबिक 15 जुलाई को पॉलिटेक्निक चौराहे से बदमाशों ने फैजाबाद जाने के लिये टैक्सी ड्राइवर शुभम पाण्डेय की कार से बुक कराई थी। जिसमें कमल मिश्रा, शरद सिंह, मेनू यादव और देशराज सवार थे। लखनऊ से निकल कर बाराबंकी पहुंचने पर देवा रोड के पास लघु शंका जाने के बहाने से गाड़ी रूकवाई गई थी। इस बीच मौका पाकर बदमाशों ने ड्राइवर शुभम पाण्डेय की गला कसकर हत्या करने के बाद शव इंदिरा नहर में फेंक दिया था।

इसी तरह पॉलिटेक्निक चौराहे से 26 अगस्त को बहराइच के लिये टैक्सी बुक कराने के बाद ड्राइवर को घायल कर फेंकने के बाद गाड़ी सूची गई थी। एएसपी क्राइम दिनेश पुरी ने बताया कि पकड़े गये लुटेरे डिप्लोमा और स्नातक की पढाई कर रहे हैं। उनके मुताबिक सूची गई गाड़ियों की बिहार के शराब तस्करों के बीच खासी मांग है। बदमाशों ने शराब तस्करों को कई गाड़ियां बेचने की बात भी कबूल की है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Three miscreants arrested for robbing a car from Lucknow and arrested in Bihar