Three elections passed bad roads prevail - तीन चुनावों बीत गए, बदहाल सड़कें जस की तस DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तीन चुनावों बीत गए, बदहाल सड़कें जस की तस

default image

बदहाल सड़कों से तंग हो चुके लोग, वादा कर भूल जा रहे प्रत्याशी

लखनऊ। प्रमुख संवाददाता

पिछले तीन साल में तीन चुनाव बीत गए। विधानसभा, नगर निकाय व लोकसभा चुनाव के बाद अब चौथा उपचुनाव भी शुरू गया है लेकिन कैंट विधानसभा क्षेत्र में सड़कों की हालत जस की तस बनी हुई है। हर चुनाव में प्रत्याशी क्षेत्र की कायापलट का वादा करते हैं लेकिन चुनाव बीतते ही सभी वादे हवा हो जाते हैं। लोग भी अब फरियाद करके थक चुके हैं।

कई इलाके ऐसे हैं जहां वाहनों से निकलना किसी संघर्ष से कम नहीं है। पता नहीं चलता सड़क में गड्डा है या गड्ढे में सड़क है। बारिश के बाद स्थिति और बदतर हो चुकी है। बाबू कुंज बिहारी वार्ड का पवनपुरी (डाकघर के आसपास) क्षेत्र हो या भीमनगर चौराहा। वाहन चालक ने गड्ढों को नजर अंदाज किया तो चोटिल होना तय है। स्थानीय लोगों की माने तो पिछले एक माह में दो दर्जन से ज्यादा लोग घायल हो चुके हैं।

मवैया फ्लाई ओवर के नीचे वर्षों से बना हुआ है गड्ढा

चंद्रभान गुप्त वार्ड में चारबाग सब्जी मंडी, लोकमान्यगंज, बस अड्डा के पीछे व मवैया मंडी में लोगों को मजबूरी में जाना पड़ रहा है। मवैया फ्लाई ओवर के नीचे की सड़क पिछले कई साल से गड्ढामुक्त होने की राह ताक रही है। लेकिन न तो नेताओं को दिखाई पड़ रहा है अधिकारियों की निगाह जा रही है।

अधूरी सड़क बनी मुसीबत

केसरीखेड़ा वार्ड के विक्रमनगर मोहल्ले की सड़क पिछल दो वर्षों अधूरी पड़ी हुई है। 140 मीटर लगभग लम्बी सड़क महज 75 मीटर बन सकी है। ठेकेदार की मनमानी की शिकायत नगर विकास मंत्री, महापौर व नगरआयुक्त से कई बार हो चुकी है लेकिन स्थिति पर कोई फर्क नहीं पड़ा। यह हालत तब है जब इसी सड़क पर पार्षद जीतू यादव के घर का दरवाजा खुलता है।

पांच साल से अनाथ पड़ी सड़क

यही हाल गुरुगोविंद सिंह वार्ड में चारबाग का छत्ता वाला पुल, बरहा, फतेहअली तलाव रोड भी लोगों के लिए मुसीबत बनी हुई है। रेलवे और नगर निगम में खींचतान है। इसका खामियाजा लोगों को भुगतना पड़ रहा है। चित्रगुप्तनगर वार्ड के विजयनगर मोड़ से इंद्रलोक कालोनी, सिंधुनगर, भोला खेडा, विष्णुलोक कालोनी की सड़क पिछले पिछले पांच साल से अनाथ पड़ी हुई है। इन सड़कों की दशा सुधारने के कोई पहल नहीं हो रही है।

-----------

कैंट विधानसभा क्षेत्र में आचार संहिता लागू होने के कारण सड़कों की मरम्मत का काम नहीं शुरू हो पा रहा है। चुनाव समाप्त होते ही सड़कों को गड्ढा मुक्त करने का काम शुरू हो जाएगा।

मनीष सिंह, मुख्य अभियंता नगर निगम।

कैंट विधानसभा क्षेत्र के विकास के लिए जापान की सरकार से व्यक्तिगत रूप से बात हुई है। वहां की सरकार पैसा खर्च करने को इच्छुक है। इसके अलावा नगर निगम व पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों से मिलकर सड़कों को दुरुस्त कराया जाएगा।

मेजर आशीष चतुर्वेदी, सपा प्रत्याशी

कैंट विधानसभा क्षेत्र में सड़कों के विकास के लिए विशेष प्रयास होगा। लोगों को सुगम यातायात की सुविधा दिलाने के लिए हर संभव प्रयास होगा। सरकार से विशेष अनुदान दिलाने की भी कोशिश होगी।

सुरेश चंद तिवारी, भाजपा प्रत्याशी

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Three elections passed bad roads prevail