DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पेट्रोल पम्पों की जांच के लिए टीमें तैयार

पेट्रोल पम्पों की जांच के लिए टीमें तैयार हो गई हैं। गुरुवार को डीएम की अध्यक्षता में हुई बैठक में 10 टीमों का गठन किया गया। प्रत्येक टीम में एक मजिस्ट्रेट, एक क्षेत्रीय आपूर्ति अधिकारी, तेल कंपनी अधिकारी, बांट माप व विज्ञान विभाग निरीक्षक, मशीन निर्माता कंपनी इंजीनियर शामिल होंगे। इसके अलावा एक स्थानीय थाने के सब इंस्पेक्टर और हेड कांस्टेबिल को भी इस टीम में शामिल किया जाएगा। बैठक में डीएम कौशल राज शर्मा ने बताया कि जिले में कुल 202 पेट्रोल पम्प हैं। इनमें से 45 की जांच पूरी हो चुकी है। शेष बचे 157 पेट्रोल पम्पों की जांच के लिए 10 टीमें बनाई गई हैं। डीएम ने बताया कि प्रत्येक टीम दिन में कम से कम दो पेट्रोल पम्पों की जांच करेगी। गुरुवार को जिन टीमों का गठन किया गया है वे शनिवार से जांच का कार्य शुरू कर देंगी। बैठक में एडीएम सिविल सप्लाई आशुतोष मोहन, जिला आपूर्ति अधिकारी कन्हैयालाल तिवारी, जिले के सभी क्षेत्रीय खाद्य एवं आपूर्ति अधिकारी, तेल कंपनियों के प्रतिनिधि और पेट्रोल पम्प मशीनों की निर्माता कंपनियों के प्रतिनिधि मौजूद रहे। सिर्फ पेट्रोल चोरी नहीं, सुविधाओं की भी जांच डीएम ने बैठक में मौजूद सभी अधिकारियों को निर्देश दिए कि जांच सिर्फ पेट्रोल चोरी तक सीमित न रहे। टीमें यह भी चेक करें कि पेट्रोल पम्प पर वाहन के टायरों में हवा भरवाने की सुविधा, पीने के पानी व शौचालय की सुविधा। प्राथमिक चिकित्सा के व आग बुझाने के इंतजाम हैं या नहीं। यदि यह सुविधाएं नहीं हैं तो पम्प के विरुद्ध कार्रवाई की जाए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Teams ready to check petrol pumps