अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फोरलेन मुआवजा घोटाले की जांच के लिए बनी टीम

लखनऊ-वाराणसी एनएच 56 फोरलेन के मुआवजे में घोटाले की जांच के लिए चार सदस्यीय टीम बनाई गई है। जांच टीम की कमान एडीएम वित्त एवं राजस्व को सौंपी गई हैं।
फोरलेन में भूमि अधिग्रहण के बाद मुआवजे में करीब दो सौ करोड़ रुपए के घोटाले का मामला पिछले दिनों प्रकाश में आया था। जिलाधिकारी विवेक ने डीएम सर्किल रेट की मानमानी व्याख्या कर मुआवजा दिए जाने के मामले में रिकबरी कराए जाने की बात भी कही थी। अब मामले की जांच के लिए एडीएम (एफआर) अमरनाथ राय के नेतृत्व में टीम गठित की गई है। उनके साथ उप जिलाधिकारी सदर जेपी सिंह, अपर उपजिलाधिकारी प्रमोद पाण्डेय व वरिष्ठ कोषाधिकारी वरुण खरे को लगाया गया है। जांच टीम अपनी रिपोर्ट जिलाधिकारी को सौंपेंगी। 
सक्षम प्राधिकारी का तबादला:  एनएच 56 के सक्षम प्राधिकारी रहे सलिल पटेल का स्थानांतरण हो गया है। अब उनके स्थान पर उपजिलाधिकारी सदर जेपी सिंह को अतिरिक्त दायित्व दिया गया है। अब एसडीएम सदर फोरलेन का मामले को देखेंगे।  

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Team formed to investigate the forelane compensation scam