DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सुलतानपुर :घोटाले का मास्टर माइंड निकला सुलतानपुर का सहायक श्रमायुक्त

Labor Department, Sultanpur, Scam

श्रम विभाग सुलतानपुर का सहायक श्रमायुक्त राज उजागिर यादव घोटाले का मास्टर माइंड निकला। उसने निर्माण कर्मकार मृत अन्त्येष्टि सहायता योजना की 40 लाख 25 हजार रुपए की धनराशि को गिरोह बनाकर डकार लिया। सहायक श्रमायुक्त के इस घोटाला गिरोह में विभाग का सहायक लेखाकार अम्बरीश राय, कम्प्यूटर आपरेटर ओंकार मौर्य व अभिषेक तिवारी शामिल है।  
जिलाधिकारी विवेक ने जांच टीम के सदस्यों की मौजूदगी में कलक्ट्रेट  सभागार में गुरुवार को पत्रकारों को घोटाले की अधिकृत जानकारी दी।  
जिलाधिकारी ने बताया कि 23 मई को जनता दर्शन में श्रम विभाग में पंजीकृत मृतक मजदूरों की आश्रित 6 महिलाएं उनके पास आईं। उनकी शिकायत थी कि पति के मृत्यु के बाद अंत्येष्टि एवं सहायता धनराशि उन्हें नहीं मिली। इस पर श्रमायुक्त राम उजागिर से जांच कर रिपोर्ट मांगी गई तो उन्होंने सहायक लेखाकार अम्बरीश राय को जिम्मेदार बताया और उसके खिलाफ एफआईआर दर्ज करा दी। मामले की गम्भीरता को देखते हुए 29 मई को अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व अमरनाथ राय की अध्यक्षता में तीन सदस्यीय जांच टीम जिसमें उप जिलाधिकारी कादीपुर प्रमोद पाण्डेय, वरिष्ठ कोषाधिकारी को शामिल कर गठित की गई। जांच टीम ने 326 पन्ने की जांच रिपोर्ट उन्हें सौंपी, जिसमें सहायक श्रमायुक्त रामउजागिर , एकाउंटेंट ओंकार मौर्य, कम्प्यूटर आपरेटर अम्बरीश राय व अभिषेक तिवारी समेत नौ बाहरी लोग 40 लाख 25 हजार रुपए के गबन के दोषी पाए गए हैं। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Sultanpur: The master of the scam turned out to be assistant laborer of Sultanpur