DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सुलतानपुर : पुरानी पेंशन बहाली के लिए शिक्षकों ने दिया धरना

कर्मचारी शिक्षक अधिकारी पुरानी पेंशन बहाली मंच के तत्वावधान में तिकोनिया पार्क में सोमवार को धरना-प्रदर्शन दिया गया। संगठन की ओर से शहर में जुलूस निकालकर विरोध प्रदर्शन किया गया।  कलेक्ट्रेट में पहुंचकर जिलाधिकारी के माध्यम से मुख्यमंत्री को सम्बोधित ज्ञापन दिया गया। शिक्षक कर्मचारियों ने कर्मचारी शिक्षक बेचारा है,छेड़ा तो अंगारा है, पुरानी पेंशन लेकर रहेंगे का नारा लगाते हुए आरपार की लड़ाई का ऐलान किया। 

पुरानी पेंशन लेकर दम लेंगे:
मंच के संयोजक जंग बहादुर पटेल ने कहा सरकार मे दम नहीं है कि वह पुरानी पेंशन की बहाली को रोक सके। मंच ने ठाना है कि इसे छीनकर ही दम लेंगे। कार्यक्रम की अध्यक्षता मंच के जिलाध्यक्ष वीरेंद्र नारायण मिश्र ने क़ी। प्रवक्ता निज़ाम खान ने कहा कि कर्मचारी शिक्षक अधिकारी मंच के पुरानी पेंशन बहाली के पहले चरण के आंदोलन में मुख्यमंत्री ने कमेटी बना कर पेंशन बहाल करने का दो महीने का समय लिया था, मगर सरकार ने पेंशन बहाली के लिए स्पष्ट नीति नहीं अपनाई है। कहा कि पूरे प्रदेश के कर्मियों में आक्रोश व्याप्त है, जिसके लिये प्रांतीय नेतृत्व डॉ.दिनेश चन्द्र शर्मा और इं.हरिकिशोर तिवारी ने महा हड़ताल की चेतावनी दी है।  कहा कि दूसरे चरण में 28 जनवरी को मशाल जुलूस के माध्यम से सरकार को जगाने का काम किया जायेगा। कहा कि पुरानी पेंशन सरकार नही बहाल करती है तो छह फरवरी से 12 फरवरी तक महा हड़ताल पर चले जाएंगे।

प्राथमिक शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष दिलीप पाण्डेय ने कहा कि बहाली मंच ने सरकार के भागने के सारे रास्ते बंद कर दिए हैं। उसके पास पुरानी पेंशन बहाल करने के शिवाय कोई दूसरा रास्ता नहीं बचा है। अगर ऐसा नहीं किया तो सत्ता से हाथ धोना पड़ेगा। जिलामंत्री डॉ.एचबी सिंह ने कहा हमने कदम आगे बढ़ाया है, तो पुरानी पेंशन से कम पर हमारा कोई समझौता नहीं हो सकता, यह हमारा अधिकार है हम इसे लेकर रहेंगे। 

सीनियर बेसिक संघ के अध्यक्ष अवनींद्र सिंह ने कहा पुरानी पेंशन बहाल करने के लिए सरकार को बाध्य कर देंगे, चाहे हमें जान ही देना पड़े। सहायक चकबंदी अधिकारी अरसद जमाल ने कहा कि कर्मचारी अधिकारी शिक्षक सरकार की मशीनरी हैं यदि यही सुरक्षित नहीं है तो देश कैसे सुरक्षित हो सकता है। संचालन अनिल यादव ने किया। यहां पर मुन्नीलाल वर्मा, सर्वदेव शुक्ला, मुद्दसर हुसैन, रऊफ अहमद, हरगोविंद सिंह अध्यक्ष चकबंदी, एचडी मिश्र, उदय भान, प्रेम कुमारी अध्यक्ष शिशु कल्याण, शामिल रहे। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Sultanpur: Teachers demonstration for old pension restoration