अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सुलतानपुर: मारपीट में घायल की मौत 

थाना क्षेत्र पूरे दत्ता मजरे चन्दौर गांव में दो अप्रैल को हुई मारपीट में घायल एक की रविवार की रात मौत हो गई। सोमवार की देर शाम शव पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को मिला। 
आक्रोशित परिजनों ने शव सड़क पर रखकर कूरेभार-हलियापुर रोड जाम कर  दिया। मौके पर पहुंचे कूरेभार थाना प्रभारी एचडी यादव के काफी मशक्कत के बाद रोड जाम समाप्त कराकर शव का अंतिम संस्कार कराया। 
बीते दो अप्रैल को कूरेभार थाना क्षेत्र के पुरेदत्ता मजरे चन्दौर गांव में जमीनी विवाद को लेकर दो पक्षों में मारपीट हो गई थी। इस वारदात में दोनों तरफ से आधा दर्जन लोग घायल हो गए थे। इसमें 78 वर्षीय वंशराज निषाद पुत्र स्व. रामपदारथ निषाद को गंभीर चोट आई थी। नाजुक हालत में वंशराज निषाद का इलाज केजीएमसी लखनऊ में चल रहा था। जहां से डाक्टरों ने उसे शनिवार को डिस्चार्ज कर दिया, परिजन उसे घर लेकर चले आए। 
अचानक रविवार को घर पर घायल वंशराज की हालत बिगड़ते देख परिजन जिला चिकित्सालय सुलतानपुर लेकर गए। जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। 
पुलिस ने सोमवार की शाम वंशराज निषाद के शव का पोस्टमार्टम कराने के बाद परिजनों को सौंप दिया। परिजन शव का अंतिम संस्कार करने के बजाय उसे लेकर रोड जामकर प्रदर्शन करने वाले थे, सूचना मिलने पर कूरेभार थाना प्रभारी एचडी यादव मौके पर पहुंचे। वहां लोगों ने हत्या का मुकदमा दर्ज करने की मांग रखी। ये भी आरोप लगाया कि पुलिस ने इस घटना में लापरवाही बरती है। अधिकारियों के काफी समझाने और आश्वासन के बाद आक्रोशित परिजनों ने शव का अंतिम संस्कार किया। 
वंशराज की बहू ने चौकी धनपतगंज के सिपाही पर आरोप लगाया है कि जमीनी विवाद के चलते हम लोग जब भी चौकी धनपतगंज जाते तब वहां के सिपाही कहते कि आपके घर तक जाने के लिए पेट्रोल लगता है। आप हमें पेट्रोल खर्चा उपलब्ध कराए तब हम आपके गांव आकर आपकी समस्या को देखेंगे। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Sultanpur: Injured killed in death