अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अम्बेडकरनगर में एनटीपीसी गेट पर उपद्रव मामले में 300 के खिलाफ मुकदमा

एनटीपीसी गेट पर उपद्रव मामले में 300 के खिलाफ मुकदमा

कार्रवाई

15 नामजद और 250 से 300 अज्ञात पर दर्ज हुआ केस

पथराव में घायल अधिकारियों कर्मचारियों का हुआ मेडिकल

एनटीपीसी टांडा के निर्माणाधीन फेज टू के ब्वायलर से गिरकर मजदूर सुनील की मौत के बाद हुए उपद्रव के मामले में अलीगंज थाने में 15 नामजद और 250 से 300 अज्ञात के खिलाफ गंभीर धाराओं में आपराधिक मुकदमा दर्ज हुआ है। उधर मृतक सुनील का गुरुवार को अंतिम संस्कार कर दिया गया। इस मौके पर सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किए गए थे।

एनटीपीसी टांडा के फेज टू के निर्माण के दौरान ब्वायलर से गिरकर मंगलवार को मजबूर सुनील चौरसिया (28) निवासी भगवानपुर थाना हंसवर की मौत हो गई थी। बुधवार को शव की मांग करने और पीड़ित परिवार को आर्थिक सहायता देने के लिए परिजनों के साथ ग्रामीणों ने एनटीपीसी गेट पर सड़क जामकर प्रदर्शन किया था। भीड़ को तितर बितर करने के लिए पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े और लाठीचार्ज किया था। कई लोग घायल हुए थे। वाहन भी क्षतिग्रस्त हुए थे। पथराव में एसडीएम टांडा कोमल राम, सीओ बीके श्रीवास्तव, आलापुर सीओ व थानाध्यक्ष समेत 11 पुलिस कर्मियों को भी चोटें आई थी। जिलाधिकारी सुरेश कुमार और पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार मिश्र के अथक प्रयास के बाद मामला किसी तरह शांत हो पाया था। अलीगंज थानाध्यक्ष बीरेन्द्र कुमार राय की तहरीर पर संविदा श्रमिक मंशाराम वर्मा, पंकज मौर्य, राम खेतार यादव का लड़का, राजू उर्फ प्रेम सागर यादव, रजनीश उर्फ बिल्लू यादव, बिल्लू बादशाह का भाई, जितेन्द्र यादव, मोहन मांझी, सिद्धनाथ मौर्य, नवनीत पांडेय, अंगद, राघव उर्फ नीरज, सोनू गुप्त, शेखर, रमेश यादव, गोलू यादव सुपरवाइजर व ढाई तीन सौ अज्ञात लोगों के खिलाफ मारपीट, बलबा, सरकारी कार्य में बांधा, जानलेवा हमला, तोड़फोड़ तथा 7 क्रिमिनल लॉ अमेंडमेंट एक्ट के तहत आपराधिक मुकदमा दर्ज किया गया है। पुलिस की एफआईआर में उपद्रव को नियंत्रित करने के लिए आंसू गैस, हैंड ग्रेनेट एवं रबर बुलेट, मिर्ची बम का प्रयोग किया जाना बताया गया है। मुकदमा दर्ज होने के बाद सीएचसी टांडा पर एसडीएम टांडा कोमल यादव, सीओ टांडा बीके श्रीवास्तव, सीओ भीटी, एसओ इब्राहिमपुर अरविंद कुमार पांडेय, एसओ अलीगंज वीरेन्द्र कुमार राय, सिपाही कैलाश कुमार, प्रवीन कुमार, तेज बहादुर समेत 11 पुलिस अधिकारियों एवं कर्मियों का मेडिकल परीक्षण हुआ।

इनसेट की खबरें

दूसरे दिन एनटीपीसी गेट के पास तैनात रही फोर्स

विद्युतनगर। एनटीपीसी टांडा गेट के सामने बुधवार को टांडा फैजाबाद मार्ग पर हुए बवाल के बाद गुरुवार को स्थिति शांत एवं तनावपूर्ण रही। एनटीपीसी के श्रमिक कालोनियों में सन्नाटा पसरा हुआ है। अधिक से अधिक श्रमिक अपने-अपने गांव चले गए हैं। गुरुवार को मौके पर कई थानों की पुलिस एवं पीएसी फोर्स सुरक्षा की दृष्टि से तैनात रही। आसपास की दुकानें खुली रहीं। कुछ श्रमिक एनटीपीसी में कार्य करने में लगे रहे। क्षेत्राधिकारी टांडा बीके श्रीवास्तव ने बताया कि स्थिति पूरी तरह से शांत एवं नियंत्रण में है। किसी भी प्रकार की समस्या नहीं है। शांति एवं सुरक्षा के दृष्टिगत जगह-जगह पुलिस एवं पीएसी फोर्स तैनात किया गया है। थानाध्यक्ष महरुआ वासुदेव राणा, थानाध्यक्ष जहांगीरगंज संतोष कुमार, थानाध्यक्ष सम्मनपुर महेन्द्र प्रताप समेत पुलिस एवं पीएसी फोर्स तैनात है।

कड़ी सुरक्षा में श्रमिक का अंतिम संस्कार हुआ

विद्युतनगर। एनटीपीसी में हादसे के शिकार श्रमिक सुनील चौरसिया (28) पुत्र लोदई चौरसिया निवासी एकडल्ला भगवानपुर थाना हंसवर के शव को फोर्स फोर्स की मौजूदगी में परिजन गुरुवार की सुबह लगभग सात बजे महादेव घाट टांडा लेकर पहुंचे। पुलिस एवं प्रशासन की चाक चौबंद व्यवस्था को देखकर भयवश तमाम लोग दाह संस्कार में शामिल नहीं हुए। इस मौके पर एसडीएम टांडा कोमल यादव, एसडीएम आलापुर, सीओ टांडा, सीओ आलापुर, सीओ भाीटी, एनटीपीसी के कई अधिकारी, थानाध्यक्ष अलीगंज, कोतवाली प्रभारी निरीक्षक टांडा राजेश यादव, थानाध्यक्ष इब्राहिमपुर समेत काफी संख्या में पुलिस व पीएसी के जवान मौजूद रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Sue case against 300 for fodder in Ambedkar Nagar