DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

देश के जाने माने उद्योगपति यश बिड़ला ने खोले सफलता के राज

- लखनऊ में बिड़ला ओपन माइंड्स इंटरनेशनल स्कूल की शुरुआत की घोषणा

लखनऊ। कार्यालय संवाददाता

यश बिरला ग्रुप के प्रमुख यश बिड़ला ने सोमवार को राजधानी में अपने सफलता के मंत्र बताए। कहा, आध्यात्म से उन्हें शक्ति मिलती है। सक्सेज मंत्रा बताते हुए बोले, लोग भूत और भविष्य के डर से अपना वर्तमान खराब कर लेते हैं। यह गलत है। अपने वर्तमान को खुलकर जीएं। जोखिम उठाने के लिए तैयार रहें। एक बार जो रास्ता चुन लिया। उस पर आगे बढ़ते रहें। सफलता जरूर मिलेगी।

बिरला एडुटेक लिमिटेड (बीईएल) के संस्थापक/चेयरमैन यश बिड़ला ने सोमवार को राजधानी में थे। वह शहर में बिड़ला ओपन माइंड्स इंटरनेशनल स्कूल की शुरुआत करने की घोषणा करने आए थे। उन्होंने कहा कि यह स्कूल बीईएल की एक पहल है जो बच्चों को अंतरराष्ट्रीय स्तर की शिक्षा देने का काम कर रही हैं। उनके साथ बेटे निर्वाण बिड़ला भी मौजूद थे। इस स्कूल की शुरुआत देवस्थल कालोनी, अनौरा, फैजाबाद रोड पर की गई है। लखनऊ स्कूल के चेयरमैन मकसूद उल हक ने प्रदेश भर में स्कूल शुरू करने की बात कही। इस मौके पर पीएचडी चैम्बर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री यूपी चैप्टर के को-चेयरमैन गौरव प्रकाश ने पिता यश बिड़ला और पुत्र निर्वाण बिड़ला के साथ संवाद कर उनके सफर पर चर्चा की। सीबीएसई के पूर्व चेयरमैन अशोक गांगुली भी कार्यक्रम में मौजूद रहे।

जिंदगी आपके हिसाब से बदलती है

को-चेयरमैन गौरव प्रकाश के एक सवाल के जवाब में यश बिड़ला बोले कि जिंदगी में समय की कभी कमी नहीं होती। इतनी व्यस्तता के बाद भी वह परिवार, अपने शौक (बॉडी बिल्डिंग) से लेकर आध्यात्म के लिए समय निकल लेते हैं। उन्होंने कहा कि जीवन आपके हिसाब से बदलता है। बस, जरूरत है कि कितनी शिद्दत से आप उसे बदलना चाहते हैं। निर्वाण बिड़ला ने कहा कि वह बिड़ला ओपन माइंड्स के माध्यम से बच्चों में नैतिक मूल्यों और संस्कार आधारित शिक्षा देने के साथ ही भविष्य के लिए तैयार करने पर जोर दे रहे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:State s renowned industrialist Yash Birla opened the secret of success