DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पंचायतों में रिक्त पदों पर उपचुनाव व जिला योजना समिति के आम चुनाव समय से करवाना प्राथमिकता-राज्य निर्वाचन आयुक्त

विशेष संवाददाता,राज्य मुख्यालय। प्रदेश के नए राज्य निर्वाचन आयुक्त मनोज कुमार की सबसे पहली प्राथमिकता प्रदेश के विभिन्न जिलों की पंचायतों में रिक्त पड़े पदों पर उपचुनाव और जिला योजना समिति के आम चुनाव समय से करवाने की है।गुरूवार को अपना पदभार ग्रहण करने के बाद 'हिन्दुस्तान' से संक्षिप्त बातचीत में उन्होंने कहा कि पंचायतों में रिक्त पड़े जिला पंचायत अध्यक्ष, ब्लाक प्रमुख और ग्राम प्रधानों के रिक्त पड़े पदों पर छह महीने के भीतर उपचुनाव करवाना जरूरी होता है, इसलिए यह उपचुनाव समय से करवाना आयोग की प्राथमिकता होगी। प्रदेश में इस वक्त सात जिला पंचायत अध्यक्ष, छह जिला पंचायत सदस्य, 84 ब्लाक प्रमुख, 251 क्षेत्र पंचायत सदस्य, 163 ग्राम प्रधान और 3484 ग्राम पंचायत सदस्यों के पद रिक्त हैं।इसके अलावा जिला योजना समिति में नगरीय निकायों के सदस्यों के अप्रत्यक्ष चुनाव भी होने हैं। जिला योजना में ग्राम पंचायतों और नगरीय निकायों के चुने हुए सदस्यों में से प्रतिनिधि निर्वाचित किये जाते हैं। पंचायतों के प्रतिनिधियों के पद तो भरे हुए हैं। निकाय चुनाव अभी हाल ही में हुए हैं। पूरे प्रदेश में नगरीय निकायों से जिला योजना समितियों में कुल 334 सदस्य चुने जाने हैं। यह सदस्य सभी नगर निकायों के चुने हुए सदस्यों में से निर्वाचित किए जाएंगे। इस बाबत जल्द ही शासन को आयोग की ओर से प्रस्ताव बनाकर भेजा जाएगा ताकि समय से इन चुनावों की अधिसूचना जारी हो सके।पंचायतों की वोटर लिस्ट का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि वोटर लिस्ट की विसंगतियां दूर करवाई जाएंगी। आयोग में सूचना प्रोद्योगिकी के क्षेत्र में किये गए काम की उन्होंने सराहना करते हुए कहा कि इससे आयोग के कामकाज में काफी सुगमता हो गयी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:state Election commissinor manoj kumar