class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सहकारी समितियों में प्रजातांत्रिक व्यवस्था का गला घोटा: शिवपाल

प्रमुख संवाददाता- राज्य मुख्यालय

समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता शिवपाल यादव ने कहा है कि सहकारी समितियों में प्रजातांत्रिक व्यवस्था का गला घोटा जा रहा है। निर्वाचित प्रबंध कमेटी के स्थान पर अंतरिम प्रबंध कमेटी बैठाना गलत होगा।

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार नियमों में परिवर्तन करके निर्वाचित प्रबंध कमेटी के स्थान पर अंतरिम प्रबंध कमेटी का प्रावधान करना गलत है। यह सहकारी समितियों के प्रजातांत्रिक स्वरूप को समाप्त करने के रूप में सीधा हस्ताक्षेप है। सहकारी निर्वाचन कार्यक्रम घोषित होने के बाद सहकारी समितियों के आधारभूत सिद्धांत में परिवर्तन करना सरकार की विवशता व हताशा को दर्शाता है तथा लोकतांत्रिक मूल्यों के प्रति सरकार के तिरस्कार पूर्ण आचरण को प्रदर्शित करता है।

शिवपाल ने कहा कि सहकारी निर्वाचन आयोग व राज्य सरकार ने समय से सहकारी समितियों के निर्वाचन कराने की विफलता को छिपाने के लिए अध्यादेश से जनता की आवाज को दबाने व कूचलने का प्रयास किया। निकट भविष्य में विधान मंडल का सत्र आहूत किया जा चुका है। ऐसी दशा में अध्यादेश के माध्यम से नियमों में परिवर्तन ठीक नहीं है। सरकार का जल्दबाजी में जारी अध्यादेश नियम विरुद्ध व औचित्यहीन है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: sp raise questions on cooperative society
अमेठी में पूर्व मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति का अवैध निर्माण ढहाया गयाबिजली दरों में वृद्धि को लेकर फैजाबाद में सपा का धरना