DA Image
11 जुलाई, 2020|1:25|IST

अगली स्टोरी

राजनीतिक आर्थिक प्रस्ताव के सपा रखेगी भाजपा सरकार को निशाने पर

- राज्य मुख्यालय- विशेष संवाददाता

समाजवादी पार्टी व देश प्रदेश के हालात पर राजनीतिक व आर्थिक प्रस्ताव लाकर भाजपा को निशाने पर रखेगी। पार्टी का राष्ट्रीय सम्मेलन पांच अक्टूबर को आगरा में बुलाया गया है। इसी में अखिलेश यादव को पांच साल के लिए राष्ट्रीय अध्यक्ष चुने जाने के प्रस्ताव पर मुहर लगेगी। पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव ने पिता व संरक्षक मुलायम सिंह यादव को सम्मेलन में बुलाया है लेकिन अभी यह तय नहीं है कि मुलायम शिरकत करेंगे या नहीं।

सम्मेलन में 25 राज्यों के 15 हजार प्रतिनिधि भाग लेंगे। आयोजन स्थल पर गुरुवार को अखिलेश सुबह 9 बजे झण्डारोहण कर सम्मेलन का उद्घाटन करेंगे। सम्मेलन में आर्थिक राजनीतिक प्रस्ताव पेश होगा जिस पर प्रतिनिधि अपने विचार रखेंगे। सम्मेलन में पहले अध्यक्ष व राष्ट्रीय कार्यकारिणी का चुनाव होगा। इसके बाद संविधान संशोधन का अनुमोदन किया जाएगा।

सपा प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी का कहना है कि यह सम्मेलन भावी राजनीतिक दशा-दिशा को भी प्रभावित करेगा क्योंकि इसमें वर्तमान राजनीतिक स्थितियों और राष्ट्र के समक्ष अन्य ज्वलंत समस्याओं पर विचार किया जाएगा। एक तरह से इस सम्मेलन में देश को जोड़ने और तोड़ने वालों के बीच निर्णायक संघर्ष की भी आधारशिला रखी जाएगी। सम्मेलन में इस बात पर भी चिंता जताई जाएगी कि केन्द्र व राज्य में भाजपा सरकार के तीन वर्ष और 6 महीनों में विकास के सभी कार्य अवरूद्ध हो गए हैं। भाजपा ने अपनी एक भी योजना लागू नहीं की है। उत्तर प्रदेश को प्रगति के रास्ते पर ले जाने का जो प्रयास अखिलेश ने शुरू किया था उसमें हर स्तर पर व्यवधान डाला जा रहा है। सम्मेलन में लोकसभा चुनाव 2019 की तैयारियों और रणनीति पर भी विचार होगा।

चार अक्टूबर को राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक

सम्मेलन से एक दिन पहले बुधवार को आगरा में ही सपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक होगी। इसमें राजनीतिक व आर्थिक प्रस्ताव का मसौदा तैयार होगा। इसके अलावा राज्यों के अध्यक्ष अपने-अपने संगठन की रिपोर्ट रखेंगे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:sp national convention on 5th oct in Agra