DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिना टिकट सवारियां ढोने वाले तीन परिचालक दबोचे

कार्रवाई

व्हाट्सएप ग्रुप बनाकर जांच द की शेयर करते थे जानकारी

रोडवेज को लगा रहे थे चूना, एआरएम ने तीनों के मोबाइल जब्त किए

सीतापुर । कार्यालय संवाददाता

चालक-परिचालक गठजोड़ ने परिवहन निगम की बसों में बिना टिकट सवारियां ढोकर विभाग को करोड़ों रुपए का चूना लगा दिया। जिस रूट पर परिवहन निगम का उड़नदस्ता बसों की जांच करता था,उसकी जानकारी वाट्सएप ग्रुप पर शेयर कर दी जाती थी। मंगलवार को एआरएम विमल राजन ने तीन परिचालकों को मोबाइल समेत मंगलवार को दबोचा है।

एआरएम विमल राजन ने बताया कि बिना टिकट सवारियां ढोए जाने की जानकारी उन्हें मिली तो चेकिंग दस्ते को लेकर वह खैराबाद टोल प्लाजा के पास पहुंच गए। हाईवे पर स्थित धरैंचा के पास परिवहन निगम की तीन बसें रोककर कंडक्टरों से मोबाइल मांगे। इससे पहले कि कंडक्टर कुछ समझ पाते, मोबाइल एआरएम के हाथ में आ चुके थे। श्री राजन के अनुसार उन्होंने मोबाइल चेक किए तो एक कंडक्टर के मोबाइल में ‘बागी बलिया के नाम से व्हाट्सएप ग्रुप बना था और दूसरे के मोबाइल पर ‘जीवन के कारनामे के नाम से व्हाट्सएप ग्रुप बना था।

श्री राजन के मुताबिक दोनों ग्रुपों में प्रदेश के कई जिलों के परिचालक जुड़े थे। ग्रुप पर मैसेज ‘एलएमपी से ओयल ओके (लखीमपुर से ओयल तक ओके), ‘गोला से राजगंज तक ओके, ‘शिकोहाबाद से जसराना पटीकरा ओके आदि के अलावा तमाम रूटों के संबंध में जानकारियां थीं। एआरएम विमल राजन ने बताया कि तीन परिचालकों के मोबाइल जब्त किए गए हैं। तीनों के खिलाफ कोतवाली में मुकदमा दर्ज करवाने की कार्यवाही की जा रही है। हालांकि समाचार लिखे जाने तक नगर कोतवाल अम्बर सिंह का कहना था कि उन्हें इस प्रकरण की कोई तहरीर नहीं मिली है।

कोट

खुफिया सूचना पर अचानक परिचालकों के मोबाइल चेक किए गए। चेकिंग के लिए ग्रुप बनाकर सूचनाएं साझा करने की शिकायत सही मिली हैं। तीन परिचालकों के मोबाइल कब्जे में लिए गए हैं। मामले में तीनों के खिलाफ कोतवाली में एफआईआर दर्ज करवाने की प्रक्रिया चल रही है। जांच के बाद विभागीय कार्यवाही के लिए भी लिखा जाएगा।

-विमल राजन, एआरएम़, परिवहन निगम

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:sitapur