DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ट्रेनिंग के लिए मैसूर और कर्नाटक भेजे गए गोंडा के रेशम किसान

गोंडा के रेशम विभाग ने रेशम कीड़ा पालन को लेकर जिले के 20 किसानों को गैर प्रदेशों में प्रशिक्षण दिलाये जाने के लिए चुना है। किसानों का जत्था शनिवार की सुबह ट्रेन से रवाना किया गया। रेशम विभाग के उपनिदेशक सत्येंद्र सिंह ने बताया कि किसानों के प्रशिक्षण का सारा खर्च सरकार वहन करेगी। 
किसानों को प्रशिक्षण के लिए कर्नाटक और मैसूर भेजा गया है। पहले कीड़ों के पालन सही जानकारी नहीं होने से अधिकांश कीड़ों की मौत हो जाती थी। जिसके कारण किसानों को नुकसान पहुंचता था। रेशम उपनिदेशक सत्येंद्र सिंह ने बताया कि प्रशिक्षण के बाद से अब किसान अधिक मुनाफा कमा सकते हैं। प्रशिक्षण के लिए आने जाने के खर्च के साथ ठहरने और खाने का प्रबंध भी सरकार की ओर से है। 
शहतूत की पौध की किस्मों की भी दी जायेगी जानकारी:प्रशिक्षण में अधिक उपज के शहतूत किस्मों और उनके पौधों के पौध रोपण की भी जानकारी वैज्ञानिकों द्वारा दी जाएगी। इससे किसानों को इसकी खेती में अधिक मुनाफा कमा सकेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Silk farmers of Gonda sent to Mysore and Karnataka for training