DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जैन मन्दिर में मना श्रेयांसनाथ का मोक्ष कल्याणक

default image

जैन धर्म के 11 तीर्थंकर भगवान श्रेयांसनाथ का मोक्ष कल्याणक महोत्सव और रक्षाबंधन पर्व डालीगंज जैन मंदिर में गुरुवार को धूमधाम से मनाया गया। इस मौके पर जैन धर्म के 11 वें तीर्थंकर भगवान श्रेयांसनाथ का मोक्ष कल्याणक महोत्सव मनाया गया। उत्सव पर 11 किलो का लाडू अर्पित किया गया। स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर मुनिश्री के सामने सानिध्य में जैन धर्म के अनुयायियों ने राष्ट्रीय ध्वज फैलाकर एकजुट होकर अखंड भारत का संकल्प लिया। रक्षाबंधन के अवसर पर मुनिश्री विशोक सागर जी महाराज ने आए हुए श्रद्धालुओं को राखी बांधी बहुत से भक्तों ने महाराज जी की पिछी में राखी बांधी। रक्षाबंधन पर्व पर मुनिश्री ने कहा कि रक्षाबंधन भाई बहन के पारस्परिक प्रेम स्नेह व विश्वास का त्यौहार है। यह पर्व कर्तव्य आत्मीयता त्याग सामाजिक एकता व सद्भाव की भावना का प्रतीक है। आज के दिन हम सभी को महिलाओं के सम्मान का संकल्प लेना चाहिए। एक भजन ‘जीवन है पानी की बूंद कब मिट जाए रे सुनाकर लोगों को भाव विभोर कर दिया। मुनिश्री ने कहा कि जिन्होंने आत्मा को श्रेष्ठ बनाया था वही श्रेयांसनाथ भगवान आज ही के दिन मोक्ष को प्राप्त हुए थे। हम सब ईश्वर से यही कामना करें कि जैसे आपने अपने जीवन को श्रेष्ठ बनाया है उसी प्रकार मेरा जीवन भी हो। इस मौके पर संजीव जैन, अशोक जैन, सुबोध जैन, विनय जैन, मौजूद रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Shreyansanath s salvation welfare in Jain temple