DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दो गुटों के बीच गोलियां चलीं, बाल-बाल बचे लोग

कोतवाली नगर अंतर्गत डीएवी इंटर कालेज के सामने बुधवार देर शाम दो पक्षों में जमकर गोलियां चलीं। हालांकि कोई भी घायल नहीं हुआ। घटना के पीछे गैंगवार को कारण बताया जा रहा है। वहीं दूसरी ओर गुरुवार तड़के दो बदमाशों ने पुलिस पर फायरिंग की। पुलिस ने उन पर काबू पाते हुए गिरफ्तार कर लिया। दोनों के पास से देशी तमंचा, कारतूस, मुंगेर मेड पिस्टल व मैगजीन बरामद हुआ है। पुलिस का दावा है कि पकड़े गए लोगों ने ही बुधवार को फायरिंग की थी। एएसपी ने कहा है कि एक पखवारे के भीतर गैंगवार का खात्मा कर दिया जाएगा।
वर्चस्व की लड़ाई को लेकर पहलवारा व पूरबटोला के दो गुट आमने-सामने हैं। इन दोनों के बीच पिछले छह महीनों से गैंगवार चल रहा है। दोनों के बीच वर्चस्व की लड़ाई है। दोनों गुटों के बीच पिछले छह माह में कई बार मारपीट हो चुकी है। पुलिस अधीक्षक प्रमोद कुमार को पिछले एक माह से इस गैंगवार के मामले की जानकारी है। उन्होंने कोतवाली नगर की पुलिस को दोनों गुटों के सदस्यों की गिरफ्तारी का आदेश दिया था लेकिन पुलिस चुपचाप बैठी रही। बताया जाता है कि ताजा घटनाक्रम में बुधवार करीब दोपहर ढाई बजे पहलवारा गुट के दो सदस्य डीएवी इंटर कालेज के सामने से गुजर रहे थे। बताया जाता है कि वहां मौजूद पूरबटोला गुट के लोगों ने दोनों सदस्यों पर करीब चार राउंड गोलियां चलाई। गोली चलने की घटना से आसपास के लोग दुकानें बंद करके भाग खड़े हुए। पहलवारा गुट के दोनों सदस्य भागकर अपने टीम लीडर के पास पहुंचे। पहलवारा गुट के करीब दर्जन भर लोग दो बोलेरो गाड़ी में सवार होकर डीएवी इंटर कालेज पहुंचे। सदस्यों ने वहां करीब 15 मिनट तक अंधाधुंध फायरिंग की। घटना की जानकारी मोहल्ला वासियों ने यूपी 100 डायल पुलिस व कोतवाली नगर को दी। 
पुलिस पर फायरिंग करने वालों को दबोचा
एएसपी शैलेन्द्र कुमार सिंह ने बताया कि गुरुवार को तड़के करीब सवा दो बजे कोतवाली नगर के प्रभारी निरीक्षक उपेन्द्र कुमार राय को मुखबिर से सूचना मिली कि दो बदमाश एक बिना नम्बर की मोटरसाइकिल से तुलसीपुर की ओर से वीर विनय चौराहे की तरफ आ रहे हैं। जिनके पास अवैध शस्त्र व कारतूस हैं। सूचना पर नगर कोतवाल अपने दलबल के साथ एमएलके डिग्री कालेज गेट के पास उनके आने का इंतजार करने लगे। तभी एक मोटरसाइकिल पर दो लोग आते दिखाई दिए। टार्च की रोशनी से इशारा करते हुए उन्हें रोका गया तो उन्होंने अपनी रफ्तार बढ़ा दी। मोटरसाइकिल सवार वीर विनय चौराहे की ओर भागने लगे। नगर कोतवाल ने उनका पीछा किया। इसी बीच कोतवाल देहात संजय कुमार दलबल के साथ वीर विनय चौराहे की ओर से गश्त करते हुए आ रहे थे। दोनों ओर पुलिस से घिरा देख मोटरसाइकिल सवार फायरिंग करने लगे। ब्रेकर से टकरा कर दोनों अनियंत्रित होकर गिर गए। पुलिस ने खुद को फायरिंग से बचाते हुए घेराबंदी करके उन्हें पकड़ लिया। पूछताछ करने पर उन दोनों ने अपना परिचय दिया। उन्होंने स्वीकार किया कि बुधवार को हुई घटना में उन्होंने फायरिंग की थी। पुलिस ने पकड़े गए शिवा सिंह पुत्र शैलेन्द्र कुमार निवासी सेंट ज़ेवियर्स विद्यालय के पास कोतवाली नगर व अंशुमांक आदित्य सिंह पुत्र गोगई सिंह निवासी मेवालाल तालाब कोतवाली नगर को गिरफ्तार कर जेल भेजा है। इनके पास से एक 32 बोर की देशी पिस्टल, एक 315 बोर का तमंचा, एक मैगजीन व 11 जिंदा कारतूस बरामद हुए हैं। पुलिस टीम में नगर व देहात कोतवाल के अलावा एसआई रामाश्रय राय, रविन्दर कुमार, कृष्ण कुमार पाण्डेय, रमेश कुमार यादव, जयप्रकाश सिंह, अरुण कुमार पाण्डेय, सौरभ शुक्ला, संजय प्रसाद शामिल थे। 
 

 

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:shot between two factions in Balrampur