DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

छेड़छाड़ प्रकरण में शिया वक्फ बोर्ड सदस्य की जमानत अर्जी पर सुनवाई 14 को

नगर कोतवाली क्षेत्र में लखनऊ की एक महिला को फिल्म जिला फैजाबाद में हीरोइन का रोल दिलाने के बहाने प्रतिष्ठित एक होटल में बुलाकर शराब पिलाकर दुराचार का प्रयास करने एवं छेड़छाड़ के मामले में जेल की सलाखों के पीछे निरूद्ध उत्तर प्रदेश शिया वक्फ बोर्ड के सदस्य व बहू बेगम मकबरा वक्फ संपत्ति के मुतवल्ली अशफाक हुसैन उर्फ जिया का जमानत अर्जी सुनवाई के बाद खारिज हो गई।
यह आदेश मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट वरुण मोहित निगम में सुनवाई के उपरांत अपराध गंभीर प्रकृति का होने के बाद दिया। वहीं जिला जजा की अदालत में प्रस्तुत जमानत अर्जी पर अगली सुनवाई 14 नवम्बर को नियत है। यह मामला नगर कोतवाली क्षेत्र का है। अभियोजन पक्ष के अनुसार लखनऊ की रहने वाली एक महिला दशहरे के दिन मकबरे के मुतवल्ली अशफाक हुसैन उर्फ जिया से फिल्म में काम करने के लिए मिली थी। 29 अक्तूबर की शाम साढे़ तीन बजे महिला को फोन करके बुलाया गया कि तुम्हें हीरोइन का रोल मिल गया है। महिला के लखनऊ से आने के बाद वह बस स्टेशन पर उतरी। इसके बाद ड्राइवर उसे सिविल लाइन स्थित एक होटल में ले गया। जहां अशफाक हुसैन मिले। रूम नंबर 409 की चाबी देकर रहने को कहा गया। कुछ देर बाद महिला से कहा गया कि तुम लेट हो गई हो तुम्हारा रोल खत्म हो गया है। निर्देशक मनोज मिश्र से बात करवाने को कहा गया।
इसके बाद हीरोइन के साथ रहने का रोल दिलाने का आश्वासन देकर शराब पिलाई गई। तत्पश्चात उसके साथ दुराचार का प्रयास कर छेड़छाड़ किया गया। महिला के चिल्लाने पर अजीत प्रताप सिंह ने पहुंचकर उसे बचाया। यह मुकदमा महिला की तहरीर पर नगर कोतवाली में दर्ज हुआ। पुलिस ने आरोपी जिया को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। इसी दौरान विवेचक राजेश यादव ने पीड़ित महिला का बयान संबंधित मजिस्ट्रेट के समक्ष 164 के तहत दर्ज कराया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Shia Wakf Board member hearing on bail plea for tampering case