class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नरभक्षी तेंदुए की तलाश में निकली ‘जयमाला’ व ‘चंपाकली’

Aahat, Pakar, hiding, female, leopard

कतर्नियाघाट वन्यजीव प्रभाग क्षेत्र में कई दिनों से तेंदुए के हमले हो रहे हैं। नरभक्षी तेंदुए को पकड़ने के लिए वन विभाग की ओर से लगातार प्रयास किए जा रहे हैं, फिर भी उसे पकड़ा नहीं जा सका है। गुरुवार को ककरहा रेंज में जंगल से सटे गंगापुर के मजरे खैरी में एक घंटे के अंतराल में नरभक्षी मादा तेंदुए के हमले में एक वृद्धा सहित तीन लोग घायल हो। इस वारदात के बाद तेंदुए की तलाश कर रही टीमों ने कॉम्बिंग में मदद करने को जयमाला व चम्पाकली हाथी को उतारा है। कॉम्बिंग की भनक पाकर मादा तेंदुआ कहीं छिप गई है। 
कतर्नियाघाट क्षेत्र के गांवों में नरभक्षी मादा तेंदुआ आतंक मचाए हुए है। दो बालकों को जहां यह मौत के घाट उतार चुकी है। वहीं दर्जनों बच्चे, युवक व वृद्ध हमले में घायल हो चुके हैं। जंगलों में लगातार हो रहे तेंदुए के हमलों से आहत वन विभाग कई दिनों से उसे पकड़ने का प्रयास कर रहा है। इसके लिए विभिन्न स्तरों पर टीम गठित कर सर्च अभियान चलाए जा रहे हैं। पिछले सप्ताह से लगातार तेंदुए की ओर से हमला किए जाने के बाद अब वन महकमे के अफसर काफी संजीदा हो गए हैं। 
कतर्नियाघाट संरक्षित वन्य इलाके के सदर बीट में जयमाला व चंपाकली हथिनी को गुरुवार को अपरान्ह कॉम्बिंग अभियान में लगाया गया है। गन्ने के खेत को घेर कर तेंदुए को पकड़ने की कोशिश की जा रही है। वन महकमे की यह पालतू हथिनी इको टूरज्मि के शौकीन पर्यटकों को जंगल में सवारी कराती रही है। इस सर्च अभियान में रेंजर आरकेपी सिंह, वन दरोगा अनिल, फारेस्ट गार्ड अब्दुल सलाम व वन वाचर आदि मौजूद रहे। 
मोहकम पुरवा के ईद गिर्द दिख रही तेंदुए की हरकत 
कतर्नियाघाट वन्यजीव प्रभाग की पिछले दिनों मोहकमपुरवा निवासी इनायत की मौत जिस जगह हुई थी। उससे सटे 40 किमी का दायरा तेंदुए के हमले से प्रभावित है। ग्रामीणों ने बताया कि तेंदुए के पंजे के निशान जगह- जगह दिखाई पड़े हैं। तेलियनपुरवा निवासी पवन कुमार ने बताया कि कल रात तेंदुआ उनके घर की दीवार फांदकर आंगन में कूद पड़ा था। जिससे पूरे घर में दहशत फैल गई। घरवालों ने शोर मचाकर तेंदुए को बाहर भगाया। बाद में ग्रामीणों को इकट्ठा कर वन अधिकारी को सूचना दी गई। मौके पर पहुंचकर फारेस्ट गार्ड अब्दुल अजीज ने ग्रामीणों के मदद से तेंदुए को घर से निकाला। ग्रामीण का कहना है कि वन महकमे की ओर से कोशिश कम हो रही है। इसी वजह से तेंदुआ पकड़ में नहीं आ रहा है। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: search of leopard
केजीएमयू के ऑर्गन ट्रांसप्लांट डिपार्टमेंट के निष्क्रिय होने का आरोपहज आवेदन करने की तिथि बढ़ी, 22 तक जमा करें फार्म