DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

छात्रा ने फांसी लगाकर दी जान

- ठाकुरगंज में किशोर का शव फंदे पर लटका मिला - पिता ने बेटे की आंखे दान की लखनऊ। निज संवाददाता निगोहां में फेल होने की डर से एक छात्रा ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। उसका शव लटका देखकर परिवारीजनों ने पुलिस को सूचना दी। पुलिस मौके पर पहुंची और शव को नीचे उतारा। पड़ताल के बाद पुलिस का कहना है कि फेल होने के डर से छात्रा ने जान दी है। वहीं, ठाकुरगंज में एक किशोर का शव फंदे से लटका मिला। परिवारीजनों ने जांच की मांग की है। पिता ने किशोर की आंखे केजीएमयू को दान दी है। निगोहां के बदनखेड़ा निवासी ओम प्रकाश किसान है। वह पत्नी कामिनी, आरती (19) समेत दस बच्चों के साथ रहते है। बुधवार को ओम प्रकाश काम से गए थे जबकि कामिनी खेत में थी। शाम करीब 6:30 बजे आरती ने छत के कुंडे से फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। ओम प्रकाश ने पुलिस को बताया कि आरती ने इंटर की परीक्षा दी थी। उसे संशय था कि वह तीन विषयों में फेल हो जाएगी। इसी बात को लेकर वह काफी परेशान थी। मूलत: सीतापुर के रामपुर मथुरा निवासी शारदा प्रसाद मिश्रा अपने बेटे दिवाकर मिश्रा (14) के साथ ठाकुरगंज के नेवाजगंज में संतोष गुप्ता के मकान की दूसरी मंजिल पर किराए पर रहकर पूजा पाठ करते है। जबकि उनकी पत्नी संतोष और तीन बच्चे सीतापुर में रहते है। शारदा प्रसाद के मुताबिक बुधवार रात वह घर लौटे तो देखा कि मकान के नीचे हिस्से में लोहे के जाल में रस्सी से दिवाकर का शव लटक रहा था। उन्होंने शव देखकर पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। शारदा का कहना है कि उनका बेटा खुदकुशी नहीं कर सकता है। उन्होंने जांच की मांग की है। केजीएमयू को बेटे की आंखे दान दी शारदा ने दिवाकर की आंखे केजीएमयू को दान दी है। उन्होंने कहा कि दिवाकर अब इस दुनिया में नहीं रहा। लेकिन वह चाहते है कि उनके बेटे की आंखे किसी जरुरतमंद के काम आए। जिससे उसकी अंधेरी जिंदगी में उजाला हो सके।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Schoolgirl hangs