अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एससी-एसटी एक्ट के 70 फीसदी मामलों में दाखिल हुए आरोप पत्र

एससी-एसटी अत्याचार निवारण अधिनियम के तहत बीते वर्ष राजधानी में दर्ज 70 फीसदी मामलों में पुलिस ने कोर्ट में आरोप पत्र दाखिल किए। जबकि 20 प्रतिशत मामले ऐसे रहे जिनमें आरोप सिद्ध नहीं हो सका। वहीं करीब पांच फीसदी मामले अभी भी विचारधीन हैं।

जिला समाज कल्याण अधिकारी केएस मिश्रा बताते हैं कि अनुसूचित जाति-अनुसूचित जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम के तहत बीते वर्ष 410 मुकदमें दर्ज हुए। जिनमें 298 मामलों में आरोप पत्र न्यायालय भेजा गया। 79 मामलों में अंतिम रिपोर्ट लगी। जबकि 18 मामले विचाराधीन हैं। इस वर्ष 2018 में 31 मार्च तक 63 मामले दर्ज हुए । इनमें 25 मामलों में आरोप पत्र दाखिल हुआ। वहीं 36 मामले अभी विचारधीन हैं। इस एक्ट के तहत 2017 में 10 मामलों में अभियुक्त को सजा सुनाई गई और 2018 में 05 मामलो में सजा हुई। दोनों वर्षो में एक-एक व्यक्ति को आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:sc st act