DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

इन्हें भी मिले संस्कृत संस्थान के पुरस्कार

विशेष संवाददाता-राज्य मुख्यालयउत्तर प्रदेश संस्कृत संस्थान के वर्ष 2016 और 2017 के वार्षिक पुरस्कारों से जिन अन्य विद्वानों को पुरस्कृत किया गया। उनमें 2016 के वाल्मीकि पुरस्कार से कानपुर देहात के डा. रामशंकर अवस्थी और 2017 के इसी पुरस्कार से बिहार के सीवान जिले में जन्मे और रायबरेली के फिरोज गांधी स्नातकोत्तकर महाविद्यालय में अध्यापक रहे डा. प्रशस्य मित्र शास्त्री शामिल हैं। इन दोनों को वाल्मीकि पुरस्कार के तहत क्रमश: दो लाख एक हजार रुपये के चेक और प्रशस्त्र पत्र प्रदान किए गए।दो लाख एक हजार रुपये की राशि के महर्षि व्यास पुरस्कार से वर्ष 2016 के लिए देवरिया में जन्मे और गंगानाथ शोध संस्थान इलाहाबाद और 2017 के लिए केन्द्रीय संस्कृत विद्यापीठ लखनऊ में रीडर व प्राचार्य पद पर रहे प्रो.आजाद मिश्र मधुकर और इलाहाबाद विश्वविद्यालय में आचार्य रहे प्रो. हरिदत्त शर्मा को सम्मानित किया गया।एक लाख एक हजार रुपये के नारद पुरस्कार से वर्ष 2016 के लिए श्यामपुर हरदोई में जन्मे और 108 ग्रंथों के लेखक डा. शिवबालक द्विवेदी को सम्मानित किया गया। वर्ष 2017 के लिए कर्नाटक के संस्कृत विद्वान जनार्दन हेगड़े को पुरस्कृत किया गया। वर्ष 2016 के लिए एक लाख एक हजार के विशिष्ट पुरस्कार से फैजाबाद मण्डल के पण्डितपुर ग्राम में जन्मे डा. देवी सहाय पाण्डेय दीप और मेरठ के रासना ग्राम में जन्मे डा. विजेन्द्र कुमार शर्मा, इलाहाबाद वि.वि. के डा. गिरिजा शंकर शास्त्री, बलरामपुर में जन्मी और गोरखपुर वि.वि. से पढ़ीं डा. प्रमोद बाला मिश्रा, हापुड़ के इकलहड़ी ग्राम में जन्में डा. रामानंद शर्मा पुरस्कृत किए गए।2017 के एक लाख एक हजार रुपये की राशि के विशिष्ट पुरस्कार से मेरठ के दौराला में जन्मे डा. राकेश शास्त्री, सागर मध्य प्रदेश में जन्मे प्रो. फूलचन्द्र जैन प्रेमी, वाराणसी में जन्मे प्रो. राजाराम शुक्ल, ओडिशा के प्रो. गोपबंधु मिश्र, चित्रकूट के डा. सुरेन्द्र पाल सिंह को पुरस्कृत किया गया।इसके अलावा 51 हजार के वेद पण्डित पुरस्कार से 2016 के लिए धर्मेन्द्र शर्मा, डा.पं.महेन्द्र पाण्डया, चक्रपाणित मिश्र, अनिरूद्ध घनपाठी, गजानन दिलीप ज्योतिकर, पवन कुमार पाण्डेय, शिवशंकर पाठक, आचार्य पंकज कुमार शर्मा, ओम प्रकाश द्विवेदी और अंकित दीक्षित को पुरस्कृत किया गया। वर्ष 2017 के लिए शिव मूरत तिवारी, शिवनारायण शुक्ल, सिद्धेश कुमार पाण्डेय, अभिषेक दुबे, सुनील कुमार उपाध्याय, पदमभूषण मिश्र, खिलमलाल न्यौपाने, विकास कुमार पाण्डेय, निखिल त्रिवेद और एस.गुरूनाथ घनपाठी को पुरस्कृत किया गया। 51 हजार रुपये की राशि के नामित पुरस्कार से 2016 के लिए आचार्य महावीर प्रसाद शर्मा, प्रो.आजाद मिश्र मधुकर, सांवर मल्ल शर्मा शास्त्री और डा. शंकर दत्त ओझा और वर्ष 2017 के लिए डा. बलराम शुक्ल, डा. एच.आर. विश्वास, डा. दिनेश कुमार द्विवेदी और अंजना शर्मा को पुरस्कृत किया गया। इसके अलावा 21 हजार रुपये की राशि के विशेष पुरस्कार से वर्ष 2016 के लिए छह और 2017 के लिए सात विद्वान पुरस्कृत किए गए। 11 हजार रुपये की राशि के विविध पुरस्कार से वर्ष 2016 और 2017 के लिए 18-18 विद्वानों को पुरस्कृत किया गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Sanskrit