DA Image
27 फरवरी, 2021|9:37|IST

अगली स्टोरी

सभी संप्रेषण गृहों की रिपोर्ट एक महीने में-रीता बहुगुणा जोशी

राज्य मुख्यालय। महिला कल्याण मंत्री प्रो रीता बहुगुणा जोशी ने सभी संप्रेषण गृहों के सीसीटीवी की चालू व गैर चालू हालत की स्थिति की रिपोर्ट एक हफ्ते के भीतर तलब की है। वहीं सभी सरकारी और सहायता प्राप्त शरणालयों, संप्रेक्षण गृहों की वास्तविक रिपोर्ट एक महीने के भीतर मांगी है।

समीक्षा बैठक के दौरान उन्होंने बाल कल्याण समिति के सदस्य को बाल संरक्षण गृह के औचक निरीक्षण से रोके जाने की सूचना पर नाराजगी व्यक्त की और कहा कि स्थितियों में सुधार के लिए औचक निरीक्षण बेहद जरूरी है। उन्होंने अधिकारियों से कहा बाल गृहों को इस बारे में सूचना दे दी जाए कि बाल कल्याण समिति के सदस्यों को औचक निरीक्षण से न रोका जाए। विभागीय समीक्षा के दौरान प्रो जोशी ने कहा कि महिला शक्ति केन्द्रों की स्थापना के लिए कार्यों के जल्द पूरा किया जाए।

प्रो. जोशी ने बैठक में कहा कि महिलाओं और बच्चों के लिए निर्धारित योजनाओं के अलावा भी उनके हितों के लिए अधिकारी काम करें। शरणालयों में मानसिक मंदित बच्चों में कौशल विकास प्रशिक्षण के लिए व्यवस्था की जाए। बैठक में वृन्दावन में 1000 महिलाओं की क्षमता वाले निराश्रित/विधवा महिला आश्रम, पीपीपी मोड पर वर्किंग वुमन हास्टल खोलने, सेवाभाव से काम करने वाली स्वयं सेवी संस्थाओं को चिह्नित करने और महिला आयोग की सदस्याओं द्वारा किए गए कामों पर भी चर्चा की गई। बैठक में विभागीय संयुक्त सचिव अजय सिंह, निदेशक वंदना समेत विभागीय अधिकारी मौजूद रहे।