अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अमेठी में जिंदा व्यक्ति को राजस्व कर्मियों ने दिखा दिया मृतक

जिले के महोना पूरब निवासी नूर मोहम्मद अपने जिंदा होने का सबूत देते फिर रहे हैं। जबकि राजस्व कर्मियों ने उन्हें मृतक दिखाकर उनकी जमीन की वरासत अन्य दो व्यक्तियों के नाम कर दी है।
मामला शुकुल बाजार के शेखवापुर मजरे महोना पूरब का है। इस गांव के निवासी नूर मोहम्मद के कोई लड़का नहीं है। राजस्व कर्मियों ने 4 वर्ष पूर्व 6 जनवरी 2014 को नूर मोहम्मद की जमीन गाटा संख्या 681 की वरासत उनको मृतक दिखाकर वशीर अहमद तथा नसीर अहमद पुत्रगण नूर मोहम्मद के नाम कर दी। कुछ दिनों पूर्व जब नूर मोहम्मद जमीन की खतौनी की नकल लेने तहसील पहुंचा तब उसे इस फर्जीवाड़े की जानकारी हुई। अब राजस्व अभिलेखों में मृतक दिखाया गया नूर मोहम्मद अपने जिंदा होने का सबूत देता फिर रहा है। उसका कहना है कि उसकी जमीन की वरासत जिन दो लोगों के नाम कर दी गई है, उन्हें उनका लड़का बताया गया है। परंतु उनके कोई लड़का नहीं है। गांव में नसीर नाम का एक व्यक्ति है जिसके पिता हलीम की मृत्यु हो चुकी है। लेकिन वशीर नाम का कोई व्यक्ति गांव में नहीं है। नूर मोहम्मद ने लेखपाल व राजस्व निरीक्षक पर मिलीभगत कर यह कृत्य करने का आरोप लगाते हुए एसडीएम से शिकायत की है। एसडीएम ने मामले की जांच के निर्देश दिए हैं। एसडीएम अभय कुमार पांडे का कहना है कि प्रकरण की जांच कराई जा रही है जो भी दोषी मिलेगा उसके विरुद्ध कार्यवाही की जाएगी।

 

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Revenue personnel show alive in Amethi